इस देश में यदि बच्चों को भूखा सुलाया या फिर उन्हें तकलीफ पहुंचाई तो माता-पिता को होगी सजा

japan,mischief parents,

चैतन्य भारत न्यूज टोक्यो. बच्चे जब गलती करते हैं तो माता-पिता उन्हें फटकार लगा देते हैं ताकि आगे चलकर वह बढ़ी गलती न करें। लेकिन जापान में अब माता-पिता बच्चों को किसी भी तरह की सजा नहीं दे सकेंगे, भले ही वह उन्हें अनुशासित करने के लिए ही क्यों न हो। जी हां…. जापान की कैबिनेट (इसमें प्रधानमंत्री समेत कई वरिष्ठ मंत्री शामिल हैं) के प्रस्ताव पर देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिशा-निर्देश का मसौदा जारी किया है। दरअसल इसका उद्देश्य बच्चों के साथ उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं को खत्म…

हर नई मां करती हैं ये गलतियां, बच्चे की परवरिश के लिए ध्यान रखें ये जरुरी बातें

new moms,tips for new moms

चैतन्य भारत न्यूज मां बनना हर महिला के लिए अलग खुशी होती है और एक अलग अनुभव भी। वहीं बच्चों की परवरिश भी मां के लिए कम चुनौतीपूर्ण नहीं होती। लेकिन परिवरिश के मामले में देखा गया है कि नई मां को अधिक परेशानी आती है। पहला अनुभव होने से वे कई बातें समझ नहीं पातीं। आइए जानते हैं नई मां किस तरह की गलतियां करती हैं। अधिक चिंतित नौ महीने के बाद जब महिला अपने बच्चे को जन्म देती है, तो उस बच्चे से वह बहुत गहराई से जुड़ी…

केरल के स्कूलों में अनोखी पहल, बच्चों को पानी पीने की याद दिलाई जा सके, इसलिए दिन में तीन बार बजेगी घंटी

Bangalore news ,bengaluru news ,dehydration ,Dehydration and heat stroke ,karnataka education minister ,Karnataka news in hindi

चैतन्य भारत न्यूज तिरुअनंतपुरम. केरल के सरकारी स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में अब से वॉटर ब्रेक होगा। इसके लिए तीन बार घंटी बजाई जाएगी। जब-जब वॉटर ब्रेक की घंटी बजेगी, छात्र अपनी कक्षा छोड़कर पानी पीने जा सकेंगे। इतना ही नही बल्कि स्कूल के शिक्षक यह सुनिश्चित करेंगे कि हर विद्यार्थी ब्रेक के दौरान पानी जरूर पिएं। वॉटर ब्रेक का खास उद्देश्य स्कूली बच्चों को भोजनावकाश की तर्ज पर पानी पीने के लिए याद दिलाना है। वॉटर बेल तीन बार बजाई जाएगी। पहली बार सुबह 10:35 पर, दूसरी दोपहर में…

बंगाल: स्कूली कोर्स में शामिल होगा ‘गुड टच-बैड टच’, आप भी अपने बच्चों को इन तरीकों से जरूर सिखाएं

good touch and bad touch,what is good touch and bad touch,good touch ,bad touch

चैतन्य भारत न्यूज कोलकाता. पश्चिम बंगाल के स्कूलों में एक अनोखी पहल शुरू हो रही है। दरअसल यहां के स्कूलों के कोर्स में अब गुड टच, बैड टच के बारे में भी बताया जाएगा। जी हां… राज्य सरकार ने 4 से 12 साल की उम्र के बच्चों को यौन हिंसा से बचाने और जागरूक करने के लिए यह फैसला लिया है। इसी कड़ी में आइए जानते हैं क्या होता है गुड टच, बैड टच और आपको अपने बच्चों को क्या-क्या बातें बतानी चाहिए- क्या होता है गुड टच और बैड…

‘पनीर काठी रोल’ और ‘दाल पराठा’ खाकर भी आपके बच्‍चे नहीं पड़ेंगे बीमार, UNICEF लाया बच्चों के लिए हेल्दी रेसिपी बुक

kids health food

चैतन्य भारत न्यूज क्या आप भी अपने बच्चों की सेहत को लेकर चिंतित हैं? या फिर इस चिंता में रहते हैं कि कैसे अपने बच्चों को हेल्दी रखे। अब यूनिसेफ ने आपका यह काम आसान कर दिया है। बच्चों की सेहत से जुड़ी समस्याओं को देखते हुए यूनिसेफ ने ‘उत्तपम से लेकर अंकुरित दाल के पराठे’ के नाम से एक किताब निकाली है। इस किताब में यह बताया गया है कि आपके बच्चों की कम वजन, मोटापा और एनीमिया जैसी समस्याओं से 20 रुपए से भी कम कीमत में तैयार…

आइंस्टीन से भी तेज है इस बच्चे का दिमाग, मात्र 9 साल की उम्र में हासिल करेगा ग्रेजुएशन की डिग्री

laurent simons,laurent simons brain, netherland

चैतन्य भारत न्यूज ब्रसेल्स. आमतौर पर छात्र ग्रेजुएशन की पढ़ाई 17 साल के बाद कर पाते हैं। लेकिन नीदरलैंड की राजधानी एम्स्टर्डम में रहने वाले 9 साल का बच्चा लॉरेंट सिमंस (laurent simons) अगले माह यानी दिसंबर में सबसे कम उम्र में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने जा रहा है। जी हां… लॉरेंट का दिमाग आइंस्टीन से भी तेज है। लॉरेंट, एंधोवेन यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन कर रहा है। कहा जा रहा है कि लॉरेंट का दिमाग इतना तेज चलता है कि उन्होंने पूरी ग्रेजुएशन की पढ़ाई…

अंतरराष्ट्रीय सहनशीलता दिवस : युवा पीढ़ी में तेजी से घटती जा रही सहनशीलता, खुद में सुधार से करें शुरुआत

international day of tolerance

चैतन्य भारत न्यूज हर वर्ष 16 नवंबर को दुनियाभर में ‘अंतरराष्ट्रीय सहनशीलता दिवस’ मनाया जाता है। बदलती जीवनशैली के चलते लोगों में सहनशीलता भी घटती जा रही है। ऐसे में सामाजिक माहौल ना बिगड़े और लोग एक दूसरे के साथ मिल-जुलकर रहे, इसी को ध्यान में रखते हुए अंतरराष्ट्रीय सहनशीलता दिवस मनाया जाता है। कैसे हुई शुरुआत साल 1995 में महात्मा गांधी की जयंती पर संयुक्त राष्ट्र ने सहनशीलता वर्ष मनाया था। इसी को आगे बढ़ाते हुए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1996 में औपचारिक तौर पर प्रस्ताव पास कर अंतरराष्ट्रीय…

पेड़ों को कटने से बचाने के लिए उन्हें पहना दिए जूते, 7 साल की दिव्यांशी की इस पेंटिंग को गूगल ने बनाया डूडल

children day google doodle

चैतन्य भारत न्यूज नई दिल्ली. गूगल साल 2009 से बाल दिवस पर डूडल लगाने के लिए बच्चों के बीच प्रतियोगिता आयोजित करवा रहा है। जो इस प्रतियोगिता में प्रथम आता है उसका डूडल होम पेज पर दिखता है। इस साल प्रतियोगिता की थीम थी ‘When I grow up, I hope’ जिसमें गुरुग्राम की रहने वाली 7 साल की दिव्यांशी सिंघल प्रथम आई। दिव्यांशी ने बेहद खास और रंग-बिरंगा डूडल बनाया। इस डूडल में पहाड़, पेड़ और हरा मैदान दिखाया गया था, जिसमें बच्चे खेल सकते हैं। 5 लाख रुपए की…

मोबाइल-लैपटॉप पर बढ़ता जा रहा बच्चों का स्क्रीन टाइम, WHO ने जताई चिंता

mobile,mobile phone, child screen time,

चैतन्य भारत न्यूज आज के दौर में इलैक्ट्रोनिक डिवाइस हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गए हैं। फिर चाहे वे पेरेंट्स हों या बच्चे हर कोई मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप आदि इस्तेमाल करता है। बच्चों को व्यस्त रखने के लिए माता-पिता अक्सर उनके हाथ में फोन थमा देते हैं या फिर उन्हें टीवी के सामने बैठा देते हैं। एक शोध के मुताबिक, पिछले चार सालों में बच्चों के स्क्रीन पर गुजारे जाने वाले समय में दोगुना इजाफा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, 8 से 12 साल के बच्चे रोजाना आमतौर पर…

जानिए कब और कैसे हुई 14 नवंबर को ‘बाल दिवस’ मनाने की शुरुआत

childrens day 2019,childrens day history,childrens day,bal diwas

चैतन्य भारत न्यूज 14 नवंबर को महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और हमारे भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती है। उनकी जयंती को पूरे देश में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन बच्चों के अधिकार, देखभाल और शिक्षा के बारे में लोगों को जागरुक किया जाता है। पंडित नेहरू ने भारत की आजादी के बाद बच्चों की शिक्षा, प्रगति और कल्याण के लिए बहुत काम किया। उन्होंने विभिन्न शैक्षिक संस्थानों जैसे भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और भारतीय प्रबंधन संस्थान की स्थापना…