Breastfeeding Week : बच्चे को स्तनपान करवाने का बौद्धिक और आर्थिक महत्व भी

breastfeeding week,breastfeeding importance

चैतन्य भारत न्यूज बच्चे के जीवन को स्वस्थ और बेहतर बनाने के लिए स्तनपान बेहद जरुरी है। यह बच्चे को सभी प्रकार के कुपोषण से बचाता है और साथ ही संकट के समय में बच्चों के लिए खाद्य सुरक्षा को भी सुनिश्चित करता है। हर साल 1-7 अगस्त तक विश्व स्तनपान सप्ताह मनाया जाता है। इस खास मौके पर चैतन्य भारत न्यूज की विशेष प्रस्तुति… Breastfeeding Week : ब्रेस्टफीडिंग वीक मनाने के पीछे है बेहद खास वजह, जानिए स्तनपान करवाने के फायदे स्तनपान बौद्धिक क्षमता से जुड़ा है। स्तनपान करने…

BreastFeeding Week : ब्रेस्टफीडिंग से जुड़े ये 6 मिथ जिन पर कभी न करें विश्वास

breastfeeding,breast feeding myth

चैतन्य भारत न्यूज दुनियाभर के करीब 120 देश हर साल 1 से 7 अगस्त तक ‘वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक’ मनाते हैं। इस सप्ताह को मनाने का खास उद्देश्य महिलाओं को स्तनपान के प्रति जागरूक करना है। लेकिन ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़े कई ऐसे मिथ हैं जो ज्यादातर महिलाओं के मन में आते हैं। इस बार वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक के मौके पर हम आपको ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़े कुछ ऐसे मिथ के बारे में बता रहे हैं जिनपर विश्वास करना गलत है। ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़े मिथ ब्रेस्ट साइज ज्यादातर महिलाओं का…

Breastfeeding Week : ब्रेस्टफीडिंग वीक मनाने के पीछे है बेहद खास वजह, जानिए स्तनपान करवाने के फायदे

best feeding week 2019, breast feeding

चैतन्य भारत न्यूज मां बनना दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास होता है। वो सभी अनुभव भी खास होते हैं जो मां बनने की अनुभूति कराते हैं। इन्हीं अनुभवों में से एक होता है ब्रेस्ट फीडिंग। बता दें ब्रेस्ट फीडिंग का मतलब है मां का अपने बच्चे को स्तनपान करवाना। आज से दुनियाभर में ‘ब्रेस्ट फीडिंग वीक’ मनाने की शुरूआत हो चुकी है। हर साल 1 से 7 अगस्त तक ‘ब्रेस्ट फीडिंग वीक’ मनाया जाता है। इस खास सप्ताह चैतन्य भारत न्यूज.कॉम की विशेष प्रस्तुति। क्यों मनाया जाता है ब्रेस्ट फीडिंग…

मोबाइल-लैपटॉप पर बढ़ता जा रहा बच्चों का स्क्रीन टाइम, WHO ने जताई चिंता

mobile,mobile phone, child screen time,

चैतन्य भारत न्यूज आज के दौर में इलैक्ट्रोनिक डिवाइस हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गए हैं। फिर चाहे वे पेरेंट्स हों या बच्चे हर कोई मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप आदि इस्तेमाल करता है। बच्चों को व्यस्त रखने के लिए माता-पिता अक्सर उनके हाथ में फोन थमा देते हैं या फिर उन्हें टीवी के सामने बैठा देते हैं। एक शोध के मुताबिक, पिछले चार सालों में बच्चों के स्क्रीन पर गुजारे जाने वाले समय में दोगुना इजाफा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, 8 से 12 साल के बच्चे रोजाना आमतौर पर…

कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट वैक्सीन लगने के बाद भी 50 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए खतरनाक, जानिए इससे कैसे बचें

चैतन्य भारत न्यूज कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में बहुत तबाही मचाई। इस लहर में व्यक्ति न सिर्फ शारीरिक तौर पर कमजोर हुआ है बल्कि उसका दिमागी संतुलन भी डगमगाया हुआ है। हालांकि, दूसरी लहर तो अब शांत होने लगी है और अब लोग डेल्टा और डेल्टा प्लस वैरिएंट से खौफ खा रहे हैं। यह तीसरी लहर के रूप में देश एक बार फिर आने को तैयार है। डेल्टा प्लस वैरिएंट के फैलने की क्षमता बढ़ सकती है एक्सपर्ट दावा कर रहे हैं कि डेल्टा और डेल्टा…

रिपोर्ट: हर 7 में से एक व्यक्ति है स्क्रीन एडिक्शन का शिकार, बढ़ रहा हृदय रोग का खतरा

mobile addiction,

चैतन्य भारत न्यूज देश में मोबाइल यूजर्स की संख्या 105 करोड़ तक जा पहुंची है। इंटरनेट के विस्तार और सोशल साइट की लत ने लोगों को मोबाइल एडिक्ट बना दिया है। यह एक ऐसा नशा है जो व्यक्ति को मदहोश नहीं करता लेकिन उसकी मनोदशा बिगाड़ देता है। यह एक मानसिक रोग बन गया है जिसे सिटिंग डिसीज का नाम दिया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 7 में से एक व्यक्ति स्क्रीन एडिक्शन का शिकार हो चुका है। सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने से लोगों में अकेलापन…

ध्यान न देने पर बढ़ता ही जाता है मोटापा, जानिए इसके प्रमुख कारण

motapa,motapa badhne ke karan,

चैतन्य भारत न्यूज इन दिनों लोगों में मोटापा तेजी से बढ़ता जा रहा है, जिसकी वजह से शरीर में कई बीमारियां हो जाती हैं। शुरू-शुरू में मोटापा अनियंत्रित जीवनशैली के कारण बढ़ता है और लोग इस पर ध्यान नही देते तो आगे चलकर यह बीमारी का रूप धारण कर लेता है। अब यह स्मोकिंग के बाद मौत का दूसरा कारण बनता जा रहा है। बढ़ती आधुनिकता के कारण ज्यादा जंक फूड का सेवन करने से भी जीवनकाल घटता जा रहा है। जब किसी भी व्यक्ति में कुल वजन की तुलना…

प्रदूषित हवा भ्रूण में ही कम कर रही बच्चे का वजन और लंबाई : अध्ययन

air pollution pregnancy

चैतन्य भारत न्यूज नई दिल्ली. गर्भ में पल रहा बच्चा पूरी तरह स्वस्थ हो, इसके लिए कई उपाय किए जाते हैं। गर्भवती स्त्री की खासतौर से देखभाल भी की जाती है। लेकिन वातावरण में मौजूद जहरीली हवा गर्भस्थ शिशु पर बुरा प्रभाव डाल रही है। एक अध्ययन में यह खुलासा हुआ है कि वायु प्रदूषण के कारण अजन्मे बच्चों की लंबाई और उनके वजन में कमी आ रही है। कम हो रही लंबाई और वजन आईआईटी दिल्ली के वायुमंडलीय विज्ञान केंद्र के प्रोफेसर कुणाल बाली, डॉ. साग्निक डे और सौरांगश…

रिपोर्ट : दिल के लिए अच्छा नहीं होता शाम 6 बजे बाद भोजन करना, मोटापे और टाइप-2 डायबिटीज का खतरा

late night eating

चैतन्य भारत न्यूज बरसों से भारत की सूर्यास्त से पहले भोजन की मान्यता पर अमेरिकी शोधकर्ताओं ने भी मुहर लगाई है। उनका दावा है कि यदि आप शाम 6:00 बजे के बाद भोजन करते हैं तो इससे मोटापा और टाइप-2 डायबिटीज का खतरा हो सकता है। दरअसल जब स्वस्थ रहने की बात आती है तो ‘हम क्या खाते हैं?’ के साथ ही यह भी जरुरी होता है कि ‘हम कब खाते हैं?’ हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक, शरीर अपनी आंतरिक घड़ी के अनुसार प्रतिक्रिया करता है। रात…

किसी रामबाण से कम नहीं है तुलसी, जानिए क्या हैं इसके चमत्कारी फायदे

तुलसी,तुलसी के फायदे,Holy Basil

चैतन्य भारत न्यूज भारतीय संस्कृति और हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे की पूजा की जाती है। हर घर में तुलसी का पौधा लगाया जाता है जिसे शुभ माना जाता है।तुलसी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है। रोजाना सुबह तुलसी के पत्ते खाने से शरीर को कई सारे फायदे होते हैं। इसके अलावा तुलसी खाने से सर्दी और खांसी जैसी समस्याएं भी दूर रहती है। तनाव नियंत्रण करती है तुलसी तुलसी में ऐंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती है जिससे शरीर की पाचन क्रिया भी सही रहती है। तुलसी का सेवन…