BreastFeeding Week : ब्रेस्टफीडिंग से जुड़े ये 6 मिथ जिन पर कभी न करें विश्वास

breastfeeding,breast feeding myth

चैतन्य भारत न्यूज दुनियाभर के करीब 120 देश हर साल 1 से 7 अगस्त तक ‘वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक’ मनाते हैं। इस सप्ताह को मनाने का खास उद्देश्य महिलाओं को स्तनपान के प्रति जागरूक करना है। लेकिन ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़े कई ऐसे मिथ हैं जो ज्यादातर महिलाओं के मन में आते हैं। इस बार वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक के मौके पर हम आपको ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़े कुछ ऐसे मिथ के बारे में बता रहे हैं जिनपर विश्वास करना गलत है। ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़े मिथ ब्रेस्ट साइज ज्यादातर महिलाओं का…

Breastfeeding Week : ब्रेस्टफीडिंग वीक मनाने के पीछे है बेहद खास वजह, जानिए स्तनपान करवाने के फायदे

best feeding week 2019, breast feeding

चैतन्य भारत न्यूज मां बनना दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास होता है। वो सभी अनुभव भी खास होते हैं जो मां बनने की अनुभूति कराते हैं। इन्हीं अनुभवों में से एक होता है ब्रेस्ट फीडिंग। बता दें ब्रेस्ट फीडिंग का मतलब है मां का अपने बच्चे को स्तनपान करवाना। आज से दुनियाभर में ‘ब्रेस्ट फीडिंग वीक’ मनाने की शुरूआत हो चुकी है। हर साल 1 से 7 अगस्त तक ‘ब्रेस्ट फीडिंग वीक’ मनाया जाता है। इस खास सप्ताह चैतन्य भारत न्यूज.कॉम की विशेष प्रस्तुति। क्यों मनाया जाता है ब्रेस्ट फीडिंग…

World Thalassemia Day: माता-पिता से मिलने वाला आनुवांशिक रक्त रोग, जानें क्या है थैलेसीमिया, इसके लक्षण और बचाव

चैतन्य भारत न्यूज हर वर्ष 8 मई को विश्व थैलेसिमिया दिवस (World Thalassemia Day) मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य थैलेसीमिया के बारे में जागरूकता फैलाना है तथा इसकी रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाना है। बता दें थैलसीमिया एक आनुवांशिक बीमारी है जो लाल रक्त कोशिकाओं के नष्ट होने की वजह से होती है। यह बच्चों को उनके माता-पिता से मिलने वाला आनुवांशिक रक्त रोग है, इस रोग की पहचान बच्चे में 3 महीने बाद ही हो पाती है। थैलेसीमिया क्या है? आमतौर पर हर सामान्य…

तेज हंसने से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, यहां पढ़ें कोविड-19 से संबंधित ICMR द्वारा दिए गए कई सवालों के जवाब

चैतन्य भारत न्यूज नई दिल्ली. चीन में फैल रहा जानलेवा कोरोना वायरस की दहशत पूरी दुनिया में जारी हैं। कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है। देश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 740 के पार हो चुकी है। जबकि ये वायरस 18 लोगों की जान ले चुका है। ऐसे में भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने कोरोना वायरस से संबंधित कुछ सवालों के जवाब दिए हैं- प्रश्न – क्या हृदय रोग, डायबिटीज या हाई…

प्रसन्न रहने से होते हैं शरीर को ढेरों फायदे, अच्छी सेहत के साथ ही उम्र भी बढ़ती है

laugh

चैतन्य भारत न्यूज इस भागदौड़ और प्रतिस्पर्धा से भरे जीवन में अधिकतर लोग हंसना यानी प्रसन्न रहना भूलते जा रहे हैं। तनाव और व्यस्तता से समाज में दूरियां बढ़ती जा रही हैं। इसकी वजह की बात करें तो पहले की तुलना में लोग अब एक दूसरे के पास नहीं बैठते हैं। अपना सुख-दुख एक-दूसरे से बांटते नहीं है। हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो रोजाना हंसने से सेहत अच्छी रहती है ठीक शरीर में भी एनर्जी बनी रहती है। रोजाना करीब 10 मिनट हंसने से शरीर की इम्युनिटी के साथ उम्र…

शरीर में धीरे-धीरे बढ़ने लगते हैं कोरोना वायरस के लक्षण, आप भी हो जाइए सतर्क

corona virus symptom

चैतन्य भारत न्यूज दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में कोरोना वायरस के अब तक 170 मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना के आम लक्षण सर्दी-जुकाम की तरह होते हैं। खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत होना इसके आम लक्षण होते हैं। कोरोना के लक्षण की वजह से ही इस महामारी की पहचान करने में दिक्कत हो रही है। वैज्ञानिकों ने बताया कि किस तरह से कोरोना वायरस के लक्षण उभरते जाते हैं और कब ये मरीज के शरीर में पूरी तरह से…

रोजाना 15 मिनट पैदल चलने से पूरे विश्व को होगा आर्थिक फायदा, जानें कैसे

morning walk

चैतन्य भारत न्यूज सेहतमंद रहकर हम सिर्फ देश ही नहीं बल्कि दुनिया की अर्थव्यवस्था को भी मजबूत कर सकते हैं। इस बात का दावा विश्व स्वास्थ्य संगठन ने किया है। डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के मुताबिक, यदि नियोक्ता कर्मचारियों को प्रोत्साहित करेंगे तो विश्व अर्थव्यवस्था में 100 बिलियन डॉलर सालाना का सुधार ही सकता है। 15 मिनट पैदल चलने से जीवन प्रत्याशा बढ़ेगी रिपोर्ट के मुताबिक, रोजाना महज 15 मिनट या एक किमी पैदल चलने से जीवन प्रत्याशा (LIFE EXPECTANCY) के साथ ही उत्पादकता भी बढ़ेगी और इससे आर्थिक विकास होगा।…

विशेषज्ञों ने भी माना भारतीय मसाले के गुण, बोले- एलर्जी से लेकर कैंसर जैसी बीमारी तक से बचाते हैं

benefits indian spices,health news,health care

चैतन्य भारत न्यूज भारतीय खाना दुनिया के अन्य हिस्सों के खाने से ज्यादा पौष्टिक होता है। इसकी सबसे बड़ी वजह है यहां के खानों में प्रयोग होने वाले भारतीय मसाले। दरअसल हमारे यहां खाने में प्रयोग होने वाले ज्यादातर मसालों में औषधीय और आयुर्वेदिक गुण होते हैं इसलिए खाने में इन्हें डालने से न सिर्फ खाना स्वादिष्ट और खुशबूदार बनता है बल्कि ये मसाले कई तरह के रोगों से बचाते भी हैं। भारतीय मसाले एलर्जी से लेकर कैंसर तक से बचाते हैं। जी हां… यह बात विशेषज्ञों ने भी मानी…

वर्ल्ड स्ट्रोक डे : हर साल डेढ़ करोड़ लोगों की जान ले रहा स्ट्रोक, जानें इससे बचने के उपाय

stroke

चैतन्य भारत न्यूज  स्ट्रोक एक किस्म का दिमाग का दौरा (अटैक) होता है, जो दिमाग को खून की आपूर्ति करने वाली रक्त वाहिका के फटने से या दिमाग की नसों में खून का बहना रुकने (ब्लॉकेज) के कारण होता है। स्ट्रोक एक ऐसी गंभीर बीमारी है जिसकी चपेट में कोई भी, कभी भी आ सकता है। स्ट्रोक के कारण दुनियाभर में सबसे ज्यादा लोग विकलांग होते हैं और हर साल स्ट्रोक के कारण ही लाखों लोगों की जान चली जाती है। यदि समय पर स्ट्रोक का इलाज नहीं किया गया…

एक दशक में दोगुने हुए ब्लड प्रेशर के शिकार बच्चे, खानपान है इसका जिम्मेदार : रिपोर्ट

blood pressure,blood pressure symptoms

चैतन्य भारत न्यूज समय से ज्यादा ड्यूटी, खाना खाने का निश्चित समय न होने और कम नींद के चलते लोग ब्लड प्रेशर (बीपी) का शिकार होते जा रहे हैं। वहीं एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2000 के बाद पैदा होने वाले बच्चों में हाई ब्लडप्रेशर की दर दोगुनी हो गई है। इसका खुलासा ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा 1994 से 2018 के बीच हुए 47 अध्ययन में हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2015 में पूरी दुनिया के 6 फीसदी बच्चे हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित थे। जबकि साल 2000 में ये…