चैतन्य भारत न्यूज.कॉम की औपचारिक शुरुआत, रामलीला ने बांधा समां

चैतन्य भारत न्यूज।

इंदौर। भारत के युवाओं में चेतना की अलख जगाने के उद्देश्य से संचालित न्यूज पोर्टल चैतन्य भारत न्यूज.कॉम की औपचारिक शुरुआत शुक्रवार को हुई। इस मौके पर तीन दिवसीय श्रीरामलीला का मंचन भी किया जा रहा है। औपचारिक शुरुआत श्रीराम पूजन के साथ हुई।

ये रहे मौजूद

औपचारिक उद्घाटन आध्यात्मिक गुरु डॉ. कल्याणी चैतन्य भारद्वाज “अम्माजी”, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पूर्व चेयरमैन प्रो. एस.पी. गौतम, संस्कृत विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति मिथिला प्रसाद त्रिपाठी, एसएएफ के आईजी जी.जी. पांडेय, अनिल सिंह कुशवाह, कमांडेट, 15वीं बटालियन एसएएफ और सेवानिवृत्त आईपीएस डीएस सेंगर ने किया। पीथमपुर औद्योगिक संगठन के अध्यक्ष गौतम कोठारी, शिक्षा के क्षेत्र में कई दशक से सक्रिय सुरेश कोठारी भी मौजूद रहे।

अतिथियों ने पोर्टल को शुभकामनाएं देते हुए अपील की कि चैनल खबरों व लेखों के माध्यम से भारतीय समाज के नवनिर्माण और संस्कृति, सामाजिकता को प्रोत्साहन देने का भी काम करे।

अतिथियों का स्वागत पोर्टल के प्रधान संपादक शशांक मिश्रा, कार्यकारी संपादक मधुलिका शुक्ल, वरिष्ठ सलाहकार स्मिता शुक्ल व मनीष भारद्वाज ने किया। संचालन शिक्षाविद् मंगल मिश्र ने किया।

रामलीला मंचन की झलकियां…

रंगीले-छबीले राजाओं की कोशिश बेकार, नहीं टूटा सीता स्वयंवर का धनुष, श्रीराम ने तोड़ा
रंगीले राजा भी आए, छबीले भी आए, कैलाश पर्वत को उठा लेने वाला राजा भी आए… सभी ने भरसक कोशिश की लेकिन सीता स्वयंवर का धनुष नहीं तोड़ पाए। आखिरकार श्रीराम ने धनुष तोड़कर सीताजी से विवाह किया। देश- विदेश (कंबोडिया, सिंगापुर और नेपाल) में सैकड़ों मंचन का अनुभव रखने वाले कलाकारों से सजी श्रीरामलीला में शुक्रवार को श्री राम के बाल्यकाल से विवाह तक के रोचक प्रसंगों की प्रस्तुति हुई।

10 फरवरी को श्रीराम के राजतिलक का मंचन

10 फरवरी (वसंत पंचमी)को श्रीराम के राजतिलक का मंचन होगा। संस्कृति कला संगम के कलाकारों द्वारा श्रीरामलीला का मंचन महालक्ष्मी नगर मैदान (बॉम्बे हॉस्पीटल) के पास जारी है।

Related posts