4 घंटे 21 मिनट का होगा साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, इस दौरान भूलकर भी ना करें ये काम

chandra grahan 2019,chandra grahan date and time

चैतन्य भारत न्यूज

आज यानी 30 नवंबर 2020 को साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगने वाला है। ग्रहण की अवधि 4 घंटे 21 मिनट रहेगी। पौराणिक मान्यताओं की माने तो इसे ग्रहों की चाल से जोड़कर देखा जाता है। सोमवार को चंद्र ग्रहण दोपहर 1:04 मिनट पर शुरू होगा। हिंदू धर्म के रीति-रिवाजों के मुताबिक, ग्रहण काल में कुछ चीजों को करने की सख्त मनाही होती है। वैसे तो ये एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण है जिसका बहुत ज्यादा प्रभाव नहीं होता है, लेकिन फिर भी कुछ सावधानियां बरत लेनी चाहिए।

देश और दुनिया पर ग्रहण का प्रभाव

ज्योतिष विद्वानों का कहना है कि उपछाया चंद्र ग्रहण होने के कारण यह इतना प्रभावशाली नहीं होगा। देश और दुनिया पर इस ग्रहण का खास प्रभाव नहीं देखा जा सकेगा, लेकिन ग्रहण के कारण लोगों की मानसिक स्थिति में प्रभाव जरूर पड़ेगा। इसके अलावा सेहत पर भी यह विपरीत प्रभाव डाल सकता है। ऐसे में ग्रहण से बचने के लिए ज्योतिष में बताए गए उपाय जरूर करें।

गर्भवती महिलाएं रखें विशेष सावधानी

ग्रहण काल में गर्भवती महिलाओं के लिए अधिक विचार किया जाता है। माना जाता है कि ग्रहण के हानिकारक प्रभाव से गर्भ में पल रहे शिशु के शरीर पर उसका नकारात्मक असर होता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जाती है।

ग्रहण के दौरान खाने-पीने से परहेज

चंद्रग्रहण आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक नहीं होता है। यह एक खगोलीय स्थिति है और इसका खाने-पीने से कोई ताल्लुक नहीं है। इसलिए आप इस दौरान जो चाहे खा-पी सकते हैं।

ग्रहण खत्म होने के बाद क्या करें

ग्रहण खत्म होने के बाद सुबह घर की साफ-सफाई करने के बाद गंगा जल से स्नान के बाद पूजा-पाठ कर दान-दक्षिणा देने का विधान है।

Related posts