बड़ी सफलता की ओर चंद्रयान-2, चांद से सिर्फ 35 किलोमीटर दूर लैंडर विक्रम

chandrayaan 2,chandrayaan 2 latest update ,moon mission

चैतन्य भारत न्यूज

चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर से लैंडर विक्रम के अलग होने के एक दिन बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने मंगलवार को बताया कि उसने यान को चांद की निचली कक्षा में उतारने का दूसरा चरण भी सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है।

इसरो के मुताबिक, 7 सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ्ट लैंडिंग से पहले बुधवार को भारतीय समयानुसार सुबह 3:42 बजे पर निचली कक्षा में पूर्व निर्धारित योजना के तहत उतारा गया। यह प्रक्रिया कुल नौ सेकेंड की रही। कहा जा रहा है कि चंद्रयान-2 ऑर्बिटर चांद की मौजूदा कक्षा में लगातार चक्कर काट रहा है और ऑर्बिटर व लैंडर पूरी तरह से ठीक हैं। इसके साथ ही शनिवार को चांद की सतह पर ऐतिहासिक सॉफ्ट लैंडिंग के लिए लैंडर को कक्षा से नीचे उतारने की एक अंतिम प्रक्रिया ही बची है।

इसरो ने कहा कि लैंडर पर लगी प्रणोदक प्रणाली को पहली बार इसे नीचे की कक्षा में लाने के लिए इसे सक्रिय किया गया। इससे पहले इसने स्वतंत्र रूप से चंद्रमा की कक्षा में परिक्रमा शुरू कर दी थी। बता दें इससे पहले, सोमवार को लैंडर विक्रम ऑर्बिटर से सफलतापूर्वक अलग हुआ था। इसरो के मुताबिक, अगर सब कुछ ठीक रहा तो विक्रम और उसके भीतर मौजूद रोवर ‘प्रज्ञान’ के शनिवार देर रात 1 बजकर 30 मिनट से 2 बजकर 30 मिनट के बीच चांद की सतह पर उतरने की उम्मीद है।

ये भी पढ़े…

आप भी पीएम मोदी के साथ बैठकर देख सकते हैं चंद्रयान-2 की लैंडिंग, बस करना होगा ये काम, आज आखिरी मौका

विक्रम लैंडर सफलतापूर्वक चंद्रयान-2 से हुआ अलग, इस दिन चांद पर कदम रखेगा भारत

चंद्रयान-2 ने पहली बार भेजी तस्वीरें, दिखा अंतरिक्ष से धरती का बेहद खूबसूरत नजारा 

Related posts