विक्रम लैंडर की ‘खोज’ पर ISRO ने खारिज किया NASA का दावा, कहा- हम पहले ही ढूंढ चुके हैं अपना लैंडर

k sivan

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के प्रमुख के. सिवन ने दावा किया है कि, उन्होंने पहले ही विक्रम लैंडर को ढूंढ लिया था। उन्होंने कहा कि, ‘हमने अपनी वेबसाइट पर इसकी जानकारी पहले ही दे दी थी। आप जाकर जांच कर सकते हैं।’


isro

चेन्नई के इंजीनियर ने ढूंढा विक्रम लैंडर

बता दें 2 दिन पहले ही नासा के लूनर रिकनैसैंस ऑर्बिटर (LRO) ने चांद की सतह पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का मलबा तलाशने का दावा किया था। इसके बाद नासा ने ट्वीटर पर तस्वीर शेयर कर लिखा था कि, ‘चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का मलबा क्रैश साइट से 750 मीटर दूर मिला है।’ साथ ही नासा ने विक्रम लैंडर का मलबा ढूंढने का श्रेय चेन्नई के इंजीनियर शनमुगा सुब्रमण्यम को दिया है। नासा के मुताबिक, शनमुगा सुब्रमण्यम ने खुद लूनर रिकनाइसांस ऑर्बिटल कैमरा (एलआरओसी) से तस्वीरें डाउनलोड कीं।

इसरो ने नासा से मांगी रिपोर्ट

शनमुगा सुब्रमण्यम ने मलबे की सकारात्मक पहचान के साथ एलआरओ प्रोजेक्ट से संपर्क किया। एलआरओसी एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी (एएसयू) में स्थित है। इसके बाद एलआरओसी की टीम ने पहले और बाद की छवियों की तुलना करके लैंडर साइट की पहचान की पुष्टि की। फिर शनमुगा ने क्रैश साइट के उत्तर-पश्चिम में लगभग 750 मीटर की दूरी पर स्थित मलबे की पहचान की। यह पहले मोजेक (1।3 मीटर पिक्सल, 84 डिग्री घटना कोण) की स्पष्ट तस्वीर थी। विक्रम लैंडर का पता लगने के बाद सोमवार को इसरो ने नासा से उसके मलबे से जुड़ी जानकारी मांगी है। नासा जल्द ही इससे जुड़ी रिपोर्ट सौंपेगा।

vikram lander

7 सितंबर को विक्रम लैंडर से इसरो का संपर्क टूटा

22 जुलाई को इसरो ने चंद्रयान-2 को लॉन्च किया था। चंद्रयान-2 अंतरिक्षयान में तीन हिस्से थे -ऑर्बिटर (2,379 किलोग्राम, आठ पेलोड), विक्रम (1,471 किलोग्राम, चार पेलोड), और प्रज्ञान (27 किलोग्राम, दो पेलोड)। विक्रम लैंडर की 7 सितंबर को चांद की सतह पर हार्ड लैंडिंग हुई थी। चांद को छूने के महज 2.1 किमी पहले ही लैंडर का इसरो से संपर्क टूट गया था। इसके बाद इसरो के वैज्ञानिकों ने कहा था कि, ‘लैंडिंग के दौरान विक्रम गिरकर तिरछा हो गया है, लेकिन टूटा नहीं है। वह सिंगल पीस में है और उससे संपर्क साधने की पूरी कोशिशें जारी हैं।’

ये भी पढ़े…

NASA ने ढूंढ लिया चांद की सतह पर विक्रम लैंडर का मलबा, क्रैश साइट से 750 मीटर दूर मिले 3 टुकड़े

चंद्रयान-2 : इसरो ने देशवासियों का किया शुक्रियाअदा, लैंडर विक्रम से संपर्क की उम्मीदें खत्म!

इसरो ने चांद पर खोज निकाला विक्रम लैंडर, ऑर्बिटर ने भेजी पहली तस्वीर

विक्रम लैंडर के लिए नागपुर पुलिस का ट्वीट, कहा- एक बार तो बोल दो, सिग्नल तोड़ने पर हम तुम्हारा चालान 

Related posts