जयंती विशेष: हंसी के बेताज बादशाह चार्ली चैपलिन के बारे में ये खास बातें आपको जरूर जाननी चाहिए

charli chaplin birthday

चैतन्य भारत न्यूज

हॉलीवुड एक्टर, फिल्ममेकर और हंसी के बेताज बादशाह चार्ली चैपलिन की आज 130वीं जन्म तिथि है। 16 अप्रैल 1889 को लंदन में जन्में चार्ली ने एक अंग्रेजी हास्य अभिनेता के रूप में अपनी पहचान बनाई है। चार्ली फिल्म निर्माता और संगीतकार भी थे। वह मूक फिल्मों के युग में सबसे बड़े स्टार बन के उभरे।

चार्ली एक ऐसे कॉमेडियन थे जिन्होंने हमेशा सिर्फ अपने एक्शन से ही दर्शकों का मनोरंजन किया है और बिना कुछ बोले दर्शकों को हंसाया है। उन्होंने ब्लैक एंड वाइट दुनिया में उन्होंने अपनी एक्टिंग में कॉमेडी के रंग बिखेरे थे। बिना कुछ बोले पूरी दुनिया को हंसाने वाले चार्ली चैपलिन ने अपने करियर की शुरुआत 13 वर्ष की आयु में ही कर दी थी। उन्होंने अपने 75 वर्ष के फिल्मी करियर में अभिनेता, निर्देशक, राइटर, निर्माता और संगीतज्ञ की सारी जिम्मेदारियो को बखूबी निभाया।

चार्ली अपनी कॉमिक एक्टिंग के साथ-साथ अपनी चाल के लिए भी काफी पसंद किये गए और आज भी उनके चलने के स्टाइल को कॉपी किया जाता है। चार्ली चैपलिन पहली बार 21 साल की उम्र में संयुक्त राज्य अमेरिका पहुंचे और उन्होंने अपनी जबरदस्त प्रतिभा की बदौलत सिनेमा उद्योग में प्रवेश किया। चैपलिन के सबसे यादगार किरदार ‘लिटिल ट्रैम्प’ के लिए उन्हें मूक फिल्मों के बेस्ट अभिनेताओं और निर्देशकों में से एक माना जाता है।

चार्ली चैपलिन के माता-पिता दोनों मनोरंजन उद्योग से थे। महज पांच साल की उम्र में चार्ली चैपलिन ने अपनी मां को एक संगीत-हॉल शो में रिप्लेस किया था। चार्ली चैपलिन ने सैनिकों की भीड़ के सामने अपना पहला गाना जैक जोन्स गाया था। 12 साल की उम्र में वह ‘शर्लक होम्स’ के गाने में ‘बिली द पेज बॉय’ के रूप में दिखाई दिए थे। दुनिया में शायद ही कोई ऐसा देश, नगर या कस्बा होगा जहां के लोगों ने इस महान व्यक्तित्व के बारे में न सुन रखा हो।

6 जुलाई, 1925 को टाइम मैग्जीन के कवर पर आने वाले चार्ली पहले अभिनेता बने थे। 1973 में ‘लाइम-लाइट’ में बेस्ट म्युजिक के लिए ऑस्कर अवॉर्ड से सम्मानित चार्ली को 1975 में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा नाइट की उपाधि दी गयी। उन्हें दो मानद अकादमी पुरस्कार भी दिए गए। चार्ली चैपलिन जितने अच्छे कलकार थे उतने ही सादगी भरे इंसान भी थे। एक बीमारी के चलते 25 दिसंबर 1977 को चार्ली ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

चार्ली चैपलिन के विचार

  • जिन्दगी बढ़िया हो सकती है अगर लोग आपको अकेला छोड़ दें।
  • दुष्ट दुनिया में कुछ भी स्थायी नहीं है, हमारी मुसीबतें भी नहीं।
  • हंसी के बिना बिताया हुआ दिन बर्बाद किया हुआ दिन है।
  • मैं हमेशा बरसात में घूमना पसंद करता हूं ताकि कोई मुझे रोते हुए ना देख पाए।
  • यदि आप केवल मुस्कुराएंगे तो आप पाएंगे की ज़िन्दगी अभी भी मूल्यवान है ।
  • मेरा दर्द किसी के हंसने का कारण हो सकता है पर मेरी हंसी कभी भी किसी के दर्द कारण नहीं होनी चाहिए।
  • बिना कुछ करे कल्पना का कोई मतलब नहीं है।
  • आप किसका अर्थ जानना चाहते हैं? ज़िन्दगी इच्छा है, अर्थ नहीं।
  • एक आवारा, एक सज्जन, एक कवि, एक सपने देखने वाला, एक अकेला आदमी, हमेशा रोमांस और रोमांच की उम्मीद करते है।
  • मैंने सोचा कि मैं बैगी पैंट, बड़े जूते, एक छड़ी और एक डर्बी टोपी पहन कर तैयार होऊंगा। सब कुछ उल्टा : पैंट बैगी , कोट तंग, छोटी टोपी और बड़े जूते।
  • इंसानों की नफरत ख़तम हो जाएगी, तानाशाह मर जायेंगे, और जो शक्ति उन्होंने लोगों से छीनी वो लोगों के पास वापस चली जायेगी। और जब तक लोग मरते रहेंगे, स्वतंत्रता कभी ख़त्म नहीं होगी।
  • शीशा मेरा सबसे अच्छा मित्र है क्योंकि जब मै रोता हूं तो वह कभी नहीं हंसता।

Related posts