मंगलसूत्र, पायल जैसी सुहाग की चीजें चुराते थे ये चोर, 10 लाख के जेवरों के साथ गिरफ्तार

चैतन्य भारत न्यूज

आज तक आपने चोरी के कई मामले देखे होंगे लेकिन हम आपको एक ऐसे चोरों के बारे में बता रहे हैं जिसके चोरी के तरीके को देखकर हर कोई हैरान था। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह चोर का गिरोह सुहाग की निशानियां चुराते था।

यह मामला छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले से सामने आया है। यहां पिछले करीब 3 सालों से जामुल क्षेत्र के आसपास चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले शातिर चोर को उसके दो अन्य साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। जामुल पुलिस के मुताबिक, चोरों के पास से पुलिस ने 10 लाख से भी ज्यादा का चोरी का माल बरामद किया है, जिसमें सोने चांदी के जेवरात और नगदी शामिल है।

एसपी प्रशांत ठाकुर ने मंगलवार को मामले का खुलासा करते हुए बताया कि जीतू चेलक जामुल थाना क्षेत्र के घासीदास नगर में 2018 से रह रहा था। वह वहां काफी दिनों से चोरी छिपे निवास कर रहा था। यहां रहते हुए उसने 2018 से 2021 के बीच कुल 17 घरों में सेंधमारी की। तीन आरोपियों ने मिलकर 25 अप्रैल 2018 से 7 फरवरी 2021 के बीच इसने घासीदास नगर, सुंदर विहार कॉलोनी, विश्व बैंक कॉलोनी कुरूद और अन्य स्थानों पर चोरियां कीं। उन्होंने यहां सुने घरों से सुहाग की निशानियों को ही चुराया। इनमें मंगल सूत्र, कान की बाली, पैर की पयाल शामिल है।

लगातार मिल रही चोरी की शिकायतों के बाद पुलिस को एक मुखबिर से जीतू चेलक के बारे में सूचना मिली थी। इस आधार पर जीतू चेलक को घासीदास नगर क्षेत्र में घूमते हुए हिरासत में लिया गया। कड़ाई से पूछताछ करने पर 17 चोरियां कबूल की हैं। लगभग 10 लाख रुपये के कुल 2 किलो 700 ग्राम चांदी के जेवरात 164 ग्राम सोने के जेवरात और 9700 रुपये नगदी जब्त किया गया।

Related posts