जेल से बाहर आते ही चिदंबरम ने मोदी सरकार पर किया हमला, कहा- सरकार गलती पर गलती कर रही…

chidambaram

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले में सुप्रीम कोर्ट से बुधवार को जमानत मिल गई है। जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को चिदंबरम पहली बार मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। चिदंबरम ने प्याज की बढ़ती कीमतों और विपक्ष के नेताओं की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया।


भारतीय अर्थव्यवस्था पर बोले चिदंबरम

चिदंबरम ने कहा कि, ‘106 दिन के बाद आपसे बात करने में खुशी हो रही है। मुझे जब घर से गिरफ्तार किया गया, तो सबसे पहले जम्मू-कश्मीर के लोगों की याद आई जिन्हें इस तरह रखा गया है।’ चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था को लेकर कहा कि, ‘प्रधानमंत्री अर्थव्यवस्था पर असामान्य रूप से मौन रहे हैं। उन्होंने इसे अपने मंत्रियों के लिए छोड़ दिया है कि वे जनता को झांसा दें। अगर बीमारी की पहचान नहीं होगी तो इलाज भी गलत होगा। सही इलाज के लिए मर्ज की जानकारी होना बेहद जरूरी है। अर्थव्यवस्था को लेकर सरकार गलती पर गलती कर रही है, जिसे छिपाने के लिए ऐसे कदम उठाए जा रहे हैं।’

आर्थिक सुस्ती मानव निर्मित त्रासदी है

उन्होंने कहा कि, ‘अगर साल के अंत तक विकास दर 5 फीसदी तक पहुंचती है तो हम भाग्यशाली होंगे। याद रखें कि डॉ. अरविंद सुब्रमण्यम ने 5 फीसदी विकास दर की चेतावनी दी थी। असल में यह 5 फीसदी नहीं है, ये 1.5 फीसदी से कम है, क्योंकि जीडीपी तय करने का तरीका संदेहास्पद है।’ चिदंबरम ने मौजूदा आर्थिक सुस्ती को लेकर कहा कि, ‘यह मानव निर्मित त्रासदी है।’ जब चिदंबरम से यह पूछा गया कि क्या वे सरकार को अर्थव्यवस्था पर सलाह देंगे। तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि, ‘पहले आप इसकी गारंटी दें कि क्या सरकार हमारी बात सुनेगी, अगर वह ऐसा करते हैं तो हम तैयार हैं।’

बिना आरोप के हिरासत में लिया जा रहा

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि, ‘आज बिना किसी आरोप के लोगों को हिरासत में लिया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश का वह स्वागत करते हैं। जो मामले अभी भी कोर्ट में हैं, उनपर वह कोई भी कमेंट नहीं करेंगे। पिछले 106 दिनों में जो मेरे साथ हुआ, उससे मैं और भी मजबूत हुआ हूं। बतौर मंत्री मेरा रिकॉर्ड बिल्कुल क्लीन रहा है, जिन्होंने मेरे साथ काम किया है वह उससे वाकिफ हैं।’

कश्मीर मुद्दे पर ये कहा

कश्मीर के मुद्दे पर चिदंबरम ने सरकार को घेरते हुए कहा कि, ‘जैसा कि मैंने कल रात 8 बजे आजादी की हवा निकाली और सांस ली, मेरा पहला विचार और प्रार्थना कश्मीर घाटी के 75 लाख लोगों के लिए थी, जिन्हें 4 अगस्त, 2019 से अपनी बुनियादी स्वतंत्रता से वंचित कर दिया गया है।’

आईएनएक्स मीडिया मामले के सवाल पर बोले चिदंबरम

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान चिदंबरम से आईएनएक्स मीडिया मामले पर भी सवाल किया गया जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि, ‘मैंने कोर्ट में विचाराधीन मामलों पर कभी कोई टिप्पणी नहीं की और मैं इस सिद्धांत पर कायम रहूंगा।’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘सुप्रीम कोर्ट का आदेश अपराध संबंधी कानून को लेकर हमारी समझ पर पड़ी धूल की परतों को साफ कर देगा।’

ये भी पढ़े…

INX मीडिया केस: पी. चिदंबरम को सशर्त मिली जमानत, 106 दिन बाद सलाखों से आए बाहर

INX मीडिया केस : इंद्राणी मुखर्जी का दावा : चिदंबरम और उनके बेटे को दी थी 35 करोड़ रुपए रिश्वत

INX मीडिया केस : चिदंबरम-पीटर मुखर्जी समेत 14 आरोपितों के खिलाफ CBI ने दाखिल की चार्जशीट

 

Related posts