जस्टिस एनवी रमना हो सकते हैं सुप्रीम कोर्ट के अगले प्रधान न्यायाधीश, सीजेआई बोबड़े ने सरकार को भेजी सिफारिश

चैतन्य भारत न्यूज

सुप्रीम कोर्ट के दूसरे सबसे वरिष्ठ जज एनवी रमना देश के अगले प्रधान न्यायाधीश (CJI) हो सकते हैं। मौजूदा मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने जस्टिस रमणा के नाम की सिफारिश की है और सरकार को उनका नाम भेज दिया है।

दरअसल पिछले दिनों ही सरकार ने उनसे अपने उत्तराधिकारी के तौर पर नाम भेजने को कहा था।इसके बाद जूदा प्रधान न्यायाधीश एसए बोबड़े ने अपने उत्तराधिकारी के तौर पर जस्टिस रमना के नाम की सिफारिश की है। बता दें कि सीजेआई बोबड़े 23 अप्रैल को रिटायर हो रहे हैं। अगर केंद्र सरकार बोबड़े की सिफारिश मान लेती है, तो 24 अप्रैल को जस्टिस रमना शपथ लेंगे।


मौजूदा चीफ जस्टिस एस.ए. बोबडे के बाद एनवी रमना उच्चतम न्यायालय के सबसे वरिष्ठ जज हैं। उनका कार्यकाल 26 अगस्त, 2022 तक होगा। गौरतलब है कि नियमों के मुताबिक, मौजूदा सीजेआई अपनी सेवानिवृत्ति के एक महीने पहले, अपने उत्तराधिकारी को लेकर एक सिफारिश भेजते हैं।

कौन हैं रमना?

आंध्र प्रदेश के रहने वाले एन.वी रमना वर्ष 2000 में आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट में स्थायी जज के तौर पर चुने गए थे। फरवरी, 2014 में सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर नियुक्ति से पहले वह दिल्ली हाई कोर्ट में थे। 63 वर्षीय नुथालपति वेंकेट रमना ने 10 फरवरी, 1983 से अपने न्यायिक करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने आंध्र प्रदेश से वकील के तौर पर शुरुआत की थी।

Related posts