अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए 5 युवकों को चीन ने आज भारत को सौंपा, चीनी सरकारी मीडिया ने सभी को बताया ‘जासूस’

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने अरुणाचल प्रदेश से गायब हुए सभी 5 युवकों को भारत को सौंप दिया है। सेना ने सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद शनिवार को किबिटू में इन व्यक्तियों को ले लिया। सभी युवक लगभग एक घंटे पैदल सफर तय करके किबिथु सीमा चौकी पहुंचें। कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत इन पांचों व्यक्तियों को 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जाएगा और इसके बाद इन्हें परिवार के सदस्यों को सौंप दिया जाएगा। इस बात की जानकारी तेजपुर डिफेंस के जनसंपर्क अधिकारी ने दी।


जानकारी के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर अगवा किए गए 5 भारतीयों को चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने ‘जासूस’ कहा है। ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि अक्सर भारतीय पक्ष चीन के बारे में सूचना हासिल करने के लिए इस तरह के उपाय आजमाता है। सूत्र के हवाले से अखबार ने लिखा कि चीनी पक्ष ने इन लोगों को हिरासत में लिया, चेतावनी दी और ‘शिक्षित’ किया। इससे पहले चीनी सेना पर आरोप लगा था कि उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के रहने वाले 5 लोगों को किडनैप कर लिया है। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कहा था कि, चीनी सेना ने पांचों युवकों के चीन क्षेत्र में होने की पुष्टि की है।

पीएलए ने मंगलवार को कहा था कि चार सितंबर को अपर सुबनसिरी जिले में भारत-चीन सीमा से लापता हुए पांच युवक उन्हें सीमापार मिले थे। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने शुक्रवार को ट्वीट किया था, ‘चीन की पीएलए ने भारतीय सेना से इस बात की पुष्टि की है कि वह अरुणाचल प्रदेश के युवकों को हमें सौंप देंगे। उन्हें 12 सितंबर को किसी भी समय एक निर्दिष्ट स्थान पर सौंपा जा सकता है।’

यह घटना तब सामने आई थी जब एक समूह के दो सदस्य जंगल में शिकार के लिए गए थे। लौटने पर उन्होंने उक्त पांच युवकों के परिवार वालों को जानकारी दी थी कि युवकों को सेना के गश्ती क्षेत्र सेरा-7 से चीनी सैनिक ले गए हैं। यह स्थान नाचो से 12 किलोमीटर उत्तर में स्थित है।

Related posts