चीनी राष्ट्रपति की आलोचना करना अलीबाबा कंपनी के मालिक जैक मा को पड़ा भारी, दो माह से हैं ‘लापता’

चैतन्य भारत न्यूज

चीनी अरबपति और ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा और आंट ग्रुप के मालिक जैक मा पिछले दो महीने से लापता हैं। बता दें इससे पहले जैक मा ने चीन की सरकारी एजेंसियों के काम काज के तरीके पर सवाल उठाए थे। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के निशाने पर आने के बाद से ही जैक मा किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में नजर नहीं आए हैं।

फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, जैक मा करीब दो महीने से किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में नहीं देखे गए हैं। खुद के बनाए उनके टीवी शो ‘अफ्रीका के बिजनेस हीरो’ में भी जैक मा की जगह पर किसी और भेज दिया गया है। हालांकि, अलीबाबा कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि शेड्यूल कंफ्लिक्ट की वजह से जैक मा टीवी शो में शामिल नहीं हुए।

जबकि उनकी कंपनी पर लगातार कार्रवाई जारी है। जैक मा के इस तरह गायब होने के बाद कई तरह के संदेह भी जाहिर किए जा रहे हैं। बता दें जैक मा चीन में अक्सर सार्वजनिक कार्यक्रमों में बतौर वक्ता मौजूद रहते हैं और अपने मोटिवेशनल भाषणों के लिए भी युवाओं में काफी लोकप्रिय हैं। उन्होंने पिछले साल अक्टूबर में शंघाई में एक कार्यक्रम के दौरान चीन के ब्याजखोर वित्तीय नियामकों और सरकारी बैंकों की तीखी आलोचना की थी। जैक मा ने सरकार से आह्वान किया था कि सिस्टम में बदलाव किया जाना चाहिए ताकि बिजनेस में नई चीजें शुरू करने के प्रयासों को दबाने नहीं जाए। उन्होंने वैश्विक बैंकिंग नियमों को ‘बुजुर्गों लोगों का क्लब’ करार दिया था।

हालांकि, चीन में अमीर लोगों के गायब होने की घटनाएं नई नहीं हैं। फोर्ब्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 से 2017 के बीच चीन के कई अरबपति गायब हो गए थे। रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 से 2017 के बीच गायब हुए कई लोग कभी दोबारा सामने नहीं आए। संदेह जताया गया कि इन अरबपतियों के गायब होने के पीछे इनकी पत्नियों, प्रेमियों, व्यापार प्रतिस्पर्धियों का हाथ था। लेकिन जब गायब हुए कुछ अमीर वापस आए तो उन्होंने कहा कि वे अधिकारियों को मदद कर रहे थे।

Related posts