भारत पर बड़ा साइबर अटैक कर सकता है चीन, आपके पास इस नाम से आ सकता ई-मेल, केंद्र ने जारी की चेतावनी

cyber attack

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत में कोरोना संकट के बीच इंटरनेट यूजर्स और इंटरनेट का इस्तेमाल दोनों ही बढ़ गया हैं, लेकिन इसके साथ ही साइबर अटैक्स भी बढ़ गए हैं। पूर्वी लद्दाख की गलवां घाटी में 15-16 की दरमियानी रात को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से ही चीन के खिलाफ भारत ने बड़ा कदम उठा लिया है। देश में सभी चीनी उत्पादों और मोबाइल ऐप्स को हटाने की नई मुहीम शुरू हो गई है। गलवान घाटी में घुसपैठ के अपने मंसूबे नाकाम होने के बाद चीन एक और नापाक चाल चलने की तैयारी में हैं। अब चीन भारत पर एक बड़ा साइबर अटैक कर सकता है।

CERT-In ने किया अलर्ट

भारत सरकार की साइबरसिक्यॉरिटी नोडल एजेंसी इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉनस टीम (CERT-In) ने इससे संबंधित अलर्ट जारी किया है। CERT-In का कहना है कि भारत में बड़े स्केल पर साइबरअटैक किया जा सकता है और इसमें इंडिविजुअल्स के अलावा बिजनसेज को भी निशाना बनाया जाएगा।

इस आईडी से आ सकता है ई-मेल

जानकारी के मुताबिक, भारतीय यूजर्स को ncov2019.gov.in के नाम से ई-मेल आ सकता है, जिसमें फ्री COVID-19 टेस्टिंग के आड़ में साइबर अटैक तिया जा सकता है। खुफिया एजेंसी ने यूजर्स को आगाह किया है कि इस ई-मेल आईडी से आए मेल को न तो ओपन करें और न ही अटैचमेंट डाउनलोड करें।

CERT-In ने क्या कहा

भारत में साइबर सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रही CERT-In ने बताया है कि, ‘साइबर हमलावर कोरोना महामारी के बीच बड़ा साइबर अटैक करने की तैयारी में हैं। ये हमला आज से ही शुरू हो सकता है। ये हमले ई-मेल के जरिए सरकार की ओर से वित्तीय सहायता का काम देखने वाली सरकारी एजेंसियों, विभाग तथा कारोबारी संस्था बनकर किए जा सकते हैं। हमलावर ऐसे स्थानीय अधिकारी बनकर धोखे वाली मेल भेज सकते हैं जिन्हें सरकार द्वारा वित्तपोषित कोविड-19 समर्थित सेवाओं की जिम्मेदारी सौंपी गई है।’

मेल और टेक्स्ट मैसेज खोलने के लिए आकर्षित करती है वेबसाइट

उन्होंने यह भी बताया कि, ‘ये असली वेबसाइट की तरह लगती हैं और लोगों को अपनी ओर मेल और टेक्स्ट मैसेज खोलने के लिए आकर्षित करती हैं। इन वेबसाइट की लिंक में वायरस होता है, जिसे क्लिक करते ही यूजर के सिस्टम में मालवेयर आ जाता है, या सिस्टम फ्रीज हो जाता है या फिर आपकी जरूरी जानकारी हैकर के पास पहुंच जाती है।’ यदि आपने इस लिंक को खोला तो हैकर बड़ी ही आसानी से आपकी सभी निजी जानकारी चुरा सकता है।

हैकर्स के पास 20 लाख से ज्यादा ईमेल आईडी हैं

सरकार द्वारा यह बताया गया है कि, साइबर हमलावरों के पास 20 लाख से ज्यादा लोगों की निजी ईमेल आईडी होने की आशंका है। ठगों के ई-मेल ‘फ्री कोविड-19 टेस्टिंग फॉर ऑल रेजीडेंट्स ऑफ दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और अहमदाबाद’ की थीम के साथ इसे तैयार किया है। ऐसे में अब कोई भी मेल खोलते समय काफी सावधानी बरतने की जरूरत है।

Related posts