PUBG समेत 118 चीनी ऐप्स को बैन करने पर बुरी तरह बौखलाया चीन

चैतन्य भारत न्यूज

भारत सरकार ने बुधवार को पबजी समेत 118 ऐप्स पर देश में प्रतिबंध लगा दिया। इस मामले में अब चीन का बयान सामने आया है। चीन ने कहा है कि, ये एक चिंता का विषय है और इससे चीनी कारोबारियों के हितों को नुकसान पहुंचा है। बता दें पबजी मोबाइल का स्वामित्व चीनी कंपनी टेनसेंट के पास है। वहीं, चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने कहा है कि, मोबाइल एप्स पर भारत का प्रतिबंध चीनी निवेशकों और सेवा प्रदाताओं के कानूनी हितों का उल्लंघन करता है। चीन इस मामले पर गंभीरता से चिंतित है और इसका विरोध करता है।


सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बुधवार को मोबाइल गेम पबजी समेत 118 मोबाइल एप्लीकेशन पर प्रतिबंध लगा दिया है। चीन के मोबाइल एप्स पर भारत की यह तीसरी डिजिटल स्ट्राइक है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने चीन की कॉमर्स मिनिस्ट्री के हवाले से कहा है कि, भारत के द्वारा जो मोबाइल ऐप्स पर बैन किया गया है। उससे चीनी इन्वेस्टर्स और सर्विस प्रोवाइडर के हितों को चोट पहुंची है। चीन इस मसले पर गंभीर है और इसका कड़ा विरोध करता है।

गौरतलब है कि पिछले कुछ वक्त में ऐसा दूसरी बार ऐसा हुआ है जब भारत ने चीनी ऐप्स पर बैन लगाया हो। वो भी तब जब बॉर्डर पर दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बरकरार है। इससे पहले गलवान घाटी में तनाव के बाद भारत ने टिकटॉक समेत 59 ऐप्स पर बैन लगाया था और अब पबजी समेत 118 ऐप्स पर बैन लगा है।

Related posts