एकतरफा प्यार में महिला के पति को फंसाने का बनाया था मास्टर प्लान, सीनियर CISF कमांडेट गिरफ्तार

delhi

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. आईएएस परीक्षा की तैयारी के दौरान 15 साल पहले एकतरफा प्यार करने वाले एक शख्स ने अपने प्यार में नाकामी का बदला लेने के लिए एक सीनियर महिला आईएएस के पति को ड्रग्स के जरिए फंसाने की साजिश रची। लेकिन वह शख्स इस योजना में कामयाब नहीं हो सका और दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बता दें साजिश रचने वाला शख्स सीआईएसएफ में सीनियर कमांडेंट है।



दिल्ली पुलिस ने पूरी साजिश का खुलासा करते के बाद 45 साल के सीनियर कमांडेंट रंजन प्रताप सिंह और उसके दोस्त 40 साल के नीरज कुमार चौहान के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। इन पर यह आरोप है कि, दोनों मिलकर राजस्थान में तैनात महिला आईएएस के पति को ड्रग्स के झूठे मामले में फंसाने की योजना बना रहे थे। सीआईएसएफ को बुधवार शाम दिल्ली के सीजीओ कॉम्प्लेक्स में इलेक्ट्रॉनिक निकेतन के पास एक कार में संदिग्ध समान होने की सूचना मिली थी। फिर उस कार की तलाशी ली गई, जिसमें 550 ग्राम चरस निकला। जब कार के मालिक की तलाश की गई तो वह राजस्थान के एक सीनियर आईएएस अधिकारी के पति के नाम की थी।

क्या है घटना की वजह?

जांच में पता चला कि रंजन प्रताप सिंह राजस्थान की एक सीनियर आईएएस ऑफिसर के एकतरफा प्यार में पागल हो गया था, जिसके बाद उसने महिला के पति को फंसाने के लिए दिल्ली में उसकी गाड़ी में चरस रखकर गिरफ्तार करवाने की साजिश रची थी। आरोपित दिल्ली में उस महिला अधिकारी के साथ आईएएस की तैयारी करता था। उस समय से ही वह महिला अधिकारी से एकतरफा प्यार करता था। जब महिला ने किसी और से शादी कर ली तो इसी जलन की वजह से आरोपित ने आईएएस अधिकारी के पति को फंसाने की साजिश रची थी।

आरोपित ने ही दी थी ड्रग्स की सूचना

जानकारी के मुताबिक, 10 अक्टूबर को दिल्ली पुलिस को किसी ने फोन पर सूचना दी कि एक शख्स अपनी I-20 कार में लोधी कालोनी इलाके में ड्रग्स लेकर जा रहा है। इसके बाद दिल्ली पुलिस लोधी कालोनी इलाके में सीजीओ कॉम्प्लेक्स के पास पहुंची और फिर उन्होंने I-20 कार की तलाशी कर उसमें सवार शख्स को हिरासत में लिया। तलाशी के दौरान कार में से चरस के छोटे-छोटे कई पैकेट बरामद किए। पुलिस ने तलाशी में तकरीबन 500 ग्राम चरस कार से बरामद किया। इसके बाद पुलिस ने कार को जब्त कर उसके मालिक अमित सावंत को हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू कर दी।

सीसीटीवी से खंगाले सबूत

शुरुआत में अमित ने पुलिस को बताया कि, उनकी कार में चरस कहां से आया, इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। फिर बाद में अमित ने यह शक जताया कि, उन्हें किसी ने फंसाने की साजिश रची है। तब दिल्ली पुलिस ने लोधी कालोनी समेत अमित के घर और हर उस जगह के सीसीटीवी खंगाले जहां से वह गुजरे थे। साथ ही पुलिस ने कॉल कर इस बारे में सूचना देने वाले शख्स की भी तलाश शुरू कर दी। जांच के बाद पुलिस ने 2 लोगों को हिरासत में लिया।

अलीगढ़ से लेकर आए चरस

आरोपितों ने बताया कि नीरज ने राह चलते एक शख्स से फोन लेकर पुलिस को कार में ड्रग्स होने की सूचना दी। दोनों अलीगढ़ से चरस लेकर आए थे। फिलहाल पुलिस मामले की आगे की जांच में जुटी है।

ये भी पढ़े…

करोड़पति को हुआ कर्मचारी की पत्नी से एकतरफा प्यार, उसे तीसरी बीवी बनाने पति को उतारा मौत के घाट, उम्र कैद की सजा

सरवना भवन के मालिक राजगोपाल का निधन, दूसरे की बीवी हासिल करने के चक्कर में काट रहे थे उम्रकैद की सजा

प्यार में धोखा मिला तो मां ने स्तन पर जहर लगाकर बच्चे को दूध पिलाकर मार डाला

Related posts