9 करोड़ से ज्यादा सैलरी पाने वाला भारतवंशी बैंकर कैंटीन से चुराता था सैंडविच, बैंक ने किया निलंबित

paras shah

चैतन्य भारत न्यूज

लंदन. ‘करोड़ों रुपए सैलरी पाने वाला शख्स कैंटीन से सैंडविच चुराता है’ यह सुनकर शायद आप भी हैरान हो जाएंगे, लेकिन यह सच है। हम आपको ऐसे ही एक अजीबोगरीब मामले के बारे में बता रहे हैं जो लंदन से सामने आया है। यहां एक हाई प्रोफाइल बैंकर को स्टाफ कैंटीन से सैंडविच चुराने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया।



चोरी करने वाला शख्स भारतीय मूल के बैंकर पारस शाह है। 31 वर्षीय पारस सिटी बैंक के लंदन स्थित केनेरी व्हार्फ स्थित मुख्यालय में पदस्थ थे। पारस शाह की बाेनस समेत उनकी सालाना सैलरी एक मिलियन पाउंड (9,22,40,943 रुपए) है। उनकी महीने की सैलरी करीब 77 लाख रुपए है। पारस पर आरोप है कि वह ईस्ट लंदन में कैनरी वार्फ स्थित बैंक के हेडक्वार्टर की कैंटीन से सैंडविच चोरी करते थे। हालांकि, अब तक यह स्पष्ट नहीं है कि, शाह पर कितने सैंडविच चुराने का आरोप लगा है।

बैंक प्रशासन का कहना है कि, ‘पारस शाह पर कई बार खाना चुराने का आरोप लगा है।’ बता दें पारस शाह यूरोप के सबसे महंगे क्रेडिट ट्रेडर्स में शुमार हैं। साथ ही वे सिक्यूरिटीज, ट्रेडिंग और रिस्क मैनेजमेंट में भी माहिर हैं। बैंक में बड़े ओहदे पर होने के कारण उनकी धाक है। वो सिटी बैंक के क्रेडिट ट्रेडिंग डिपार्टमेंट में यूरोप, मिडिल ईस्ट और अफ्रीका के हेड थे। पारस को ऐसे समय निलंबित किया गया, जब सिटी ग्रुप अगले महीने अपने कर्मचारियों के लिए बोनस की घोषणा करने वाला है।

जानकारी के मुताबिक, पारस ने स्कूली शिक्षा लंदन के एक प्रतिष्ठित स्कूल से पूरी की। फिर उन्होंने साल 2010 में ब्रिटेन की बाथ यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन किया था। साल 2010 में ही वो एचएसबीसी बैंक के साथ जुड़ गए और उन्होंने अगले 7 साल तक वहीं काम किया। इस दौरान पारस अपनी काबिलियत से एक के बाद एक कई पदों पर रहे। साल 2017 में पारस सिटी बैंक से जुड़े। कहा जा रहा है कि यदि पारस के आरोप सिद्ध हुए तो इस केस की वजह से उन्हें बड़ा खामियाजा उठाना पड़ सकता है। पारस ने इस मामले में अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

वैसे यह पहली बार नहीं है जब इतने बड़े अधिकारी को चोरी करते हुए पाया गया हो, बल्कि पहले भी इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं। साल 2016 में एक जापानी बैंक ने लंदन के एक बैंकर को मात्र 5 पाउंड चोरी करने की वजह से नौकरी से निकाल दिया था।

इसके अलावा साल 2014 में एक बैंक ने अपने वरिष्ठ अधिकारी को ट्रैवल एक्सपेंसेज में हेर-फेर के लिए कंपनी से बाहर का रास्ता दिखाया था। इसके अलावा विमानन कंपनी एयर एशिया के सीईओ टोनी फर्नांडीज और चेयरमैन कमरुद्दीन मेरानुन को भी दो महीने के लिए पद से हटा दिया गया है। आरोप था कि, एयरबस ने प्लेन का ऑर्डर पाने के लिए एयर एशिया को 355 करोड़ रुपए (5 करोड़ डॉलर) की रिश्वत दी थी। इस मामले में फर्नांडीज व मेरानुन के शामिल होने का शक है।

ये भी पढ़े… 

निजी डाटा चोरी करने वालों की अब खैर नहीं, होगी जेल और 15 करोड़ तक जुर्माना, जानें डाटा चोरी से बचने के उपाय

13 लाख भारतीयों के डेबिट-क्रेडिट कार्ड का डेटा चोरी, ऑनलाइन बेच रहे हैकर्स

 रेल मंत्री पीयूष गोयल के घर चोरी, आरोपित नौकर गिरफ्तार, महत्वपूर्ण दस्तावेज लीक करने का शक

Related posts