कोविड-19 के मरीजों पर प्लाज्मा थेरेपी के क्लीनिकल ट्रायल को मिली मंजूरी

coronavirus india

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. केंद्रीय दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है जिसमें कोविड-19 के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी के क्लीनिकल ट्रायल की इजाजत मांगी थी। इसके लिए अब आइसीएमआर द्वारा तय प्रोटोकॉल के तहत ट्रायल किया जाएगा।

भारत के औषधि महानियंत्रक ने कहा कि आईसीएमआर ने केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन को उन संस्थानों की सूची सौंपी थी जिन्होंने इस परीक्षण में रुचि दिखाई थी। जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय औषधि नियामक ने एक नोटिस जारी कर कहा कि, प्लाज्मा के परीक्षण को लेकर आईसीएमआर के प्रस्ताव पर 13 अप्रैल को विशेषज्ञों की समिति ने चर्चा की। समिति ने कोविड की मौजूदा स्थिति को देखते हुए त्वरित मंजूरी प्रक्रिया को अपनाया गया।
नोटिस में यह भी कहा गया कि, औषधि और नियामक परीक्षण नियम, 2019 के नियमों और मानकों के तहत कुछ मानकों और संशोधनों के साथ सीडीएससीओ ने क्लीनिकल ट्रायल को सहमति दे दी है।

बता दें आइसीएमआर ने कोविड-19 के सामान्य मरीजों में प्लाज्मा थेरेपी के कंट्रोल्ड ट्रायल के लिए प्रोटोकॉल विकसित किया है, जिसकी कमेटी ने समीक्षा की है। प्लाज्मा थेरेपी में कोविड-19 से ठीक हो चुके मरीजों के खून से एंटीबॉडीज लेकर उनका इस्तेमाल गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों के इलाज में किया जाता है।

इस अध्ययन का उद्देश्य कोविड मरीजों को ठीक करने में प्लाज्मा के प्रभाव का आकलन करना है। अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने हाल ही में कोविड-19 संक्रमण से जूझ रहे लोगों के इलाज के लिए इस बीमारी से ठीक हो चुके लोगों के प्लाज्मा से इलाज को मंजूरी दी।

प्लाज्मा थेरेपी से लाभ के संकेत

कोरोना वायरस से संक्रमित पांच मरीजों में प्लाज्मा चढ़ाया गया। इसके बाद उनकी सेहत में सुधार होते दिखा। इनमें से एक भी मरीज की मौत नहीं हुई। अध्ययन में पता चला कि, इनमें से तीन मरीज को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है और दो मरीज की हालत स्थिर है। आईसीएमआर ने बताया कि, ऐसे ही एक अन्य मामले में एक गर्भवती महिला समेत चार मरीजों पर इस परीक्षण को देखा गया और पाया गया कि बाद में इन सभी को अस्पताल से छुट्टी मिल गई। गंभीर रूप से बीमार 10 लोगों में 200 मिलीलीटर प्लाज्मा चढ़ाया गया तो तीन दिनों में ही उनकी हालत में त्वरित सुधार दिखा।

Related posts