जम्मू के किश्तवाड़ में बादल फटने से मची तबाही, अब तक 7 लोगों की मौत, 40 लापता

चैतन्य भारत न्यूज

किश्तवाड़. जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में सुबह 4:30 बजे बादल फटने के बाद बाढ़ आ गई। जिसमें हुंजर गांव के छह घर और एक राशन स्टोर बह गए। इस आपदा के चलते 7 लोगों की मौत हो गई है जबकि कई लोग लापता बताए जा रहे हैं। बचाव के लिए पुलिस, सेना और बचाव की अन्य टीमें मौके पर पहुंची हैं।

घटना में अब भी 40 लोग लापता बताए जा रहे हैं। अभी तक 7 लोगों के शव निकाल लिए गए हैं। साथ ही अभी तक 12 लोग किए गए रेस्क्यू कर लिया गया है। जिला उपायुक्त किश्तवाड़ अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि, पांच शव निकाले जा चुके हैं। सेना, पुलिस और एसडीआरएफ की ओर से बड़े पैमाने पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। किश्तवाड़ से एसडीआरएफ की टीम मौके पर है, जबकि जम्मू, उधमपुर और श्रीनगर से टीमों को घटनास्थल तक एयरलिफ्ट करने के लिए मौसम बाधा बना हुआ है। जिला उपायुक्त के अनुसार हुंजर के अलावा लंबार्ड क्षेत्र में दो और बादल फटे हैं।

होमगार्ड, सिविल डिफेंस और एसडीआरएफ के पुलिस महानिदेशक वीके सिंह ने कहा कि 60 परिवारों को घर खाली करवाकर सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया गया है। रेस्क्यू टीमें मौके पर हैं, जबकि कई अन्य टीमों को भी रेस्क्यू ऑपरेशन स्थल तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है, नदियों और नालों में जल स्तर बढ़ने की उम्मीद है, जो नदियों, नालों, जल निकायों और स्लाइड-प्रवण क्षेत्रों के पास रहने वाले निवासियों के लिए खतरा पैदा कर सकता है।

इस समय, जम्मू-कश्मीर के अधिकांश स्थानों पर बादल छाए हुए हैं और पुंछ, राजौरी, रियासी और आसपास के कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश हो रही है।

Related posts