मप्र: राज्यपाल से मिले सीएम कमलनाथ, कहा- फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हूं, लेकिन पहले हमारे बंधक विधायकों को मुक्त कराएं

kamalnath lalji tandon

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्यप्रदेश में जारी सियासी घमासान के बीच शुक्रवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन से करीब एक घंटे तक मुलाकात की। राजभवन में हुई मुलाकात के बाद कमलनाथ ने राज्यपाल टंडन को पत्र सौंपा। इसमें उन्होंने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोप लगाए।


फ्लोर टेस्ट की मांग की

कमलनाथ ने पत्र में राज्यपाल से मांग की है वे गृह मंत्री अमित शाह से बेंगलुरु में बंधक विधायकों को मुक्त कराने के लिए कहें। उन्होंने विधानसभा के आगामी सत्र में अध्यक्ष द्वारा निर्धारित तिथि पर फ्लोर टेस्ट की मांग की गई है। मुलाकात के बाद कमलनाथ ने कहा कि, ‘मैं फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हूं।’

‘बीजेपी ने सरकार गिराने का दांव चला’

चिट्ठी में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि, ‘बीजेपी ने 3 और 4 मार्च को सरकार गिराने का दांव चला था और कुछ विधायकों को बेंगलुरु भेजने की कोशिश की गई, लेकिन हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की साजिश को नाकाम कर दिया। इसके बाद 8 मार्च को बीजेपी ने चार्टर्ड प्लेन से 19 विधायकों को बेंगलुरु भेज दिया। इसमें 6 मंत्री शामिल हैं।’

बीजेपी नेता ने सौंपा 19 विधायकों का इस्तीफा

सीएम कमलनाथ ने आरोप लगाया कि, ‘इन 19 विधायकों को बीजेपी ने एक रिजॉर्ट में रखा है। विधायकों को किसी से भी संपर्क करने की इजाजत नहीं दी जा रही है। विधायकों को बंधक बना लिया गया है। 10 मार्च को बीजेपी के नेता विधानसभा अध्यक्ष के पास पहुंचे थे और उन्होंने 19 विधायकों का इस्तीफा सौंपा था। इन विधायकों का इस्तीफा बीजेपी नेताओं ने सौंपा, जो कि गलत है।’

‘बीजेपी सरकार गिराने की कोशिश कर रही’

मुख्यमंत्री ने कहा कि, ’16 मार्च से विधानसभा का सत्र शुरू होने वाला है, लेकिन सत्र शुरू होने से पहले सभी विधायकों का आना जरूरी है। हम फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हैं, लेकिन उससे पहले बंधक बनाए गए विधायकों को छुड़ाना होगा। हम चाहते हैं कि लोकतंत्र की हत्या न हो। मध्य प्रदेश की जनता ने लोकतांत्रिक सरकार चुनी थी, जिसे बीजेपी गिराने की कोशिश कर रही है।’

बागी विधायकों को बर्खास्त करने की मांग

बता दें 10 मार्च को ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद कमलनाथ सरकार गिरने की कगार पर है। मुख्यमंत्री कमलनाथ राज्यपाल से इस्तीफा देने वाले सभी विधायकों को बर्खास्त करने की सिफारिश भी कर चुके हैं। इस पर राज्यपाल शुक्रवार को फैसले कर सकते हैं।

ये भी पढ़े..

संकट में कमलनाथ सरकार, फिर भी है बहुमत का भरोसा, यहां देखें मप्र विधानसभा का गणित

कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने छोड़ी पार्टी, 20 कांग्रेस विधायकों का भी इस्तीफा, मप्र की कमलनाथ सरकार संकट में

कमलनाथ सरकार पर संकट: कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग ने दिया इस्तीफा, CM कमलनाथ ने कही ये बात

Related posts