सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता का निधन, सूचना मिलते ही नम हुईं आंखें, फिर भी COVID-19 पर जारी रखी बैठक

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का सोमवार सुबह निधन हो गया। 89 वर्षीय आनंद सिंह बिष्ट का स्वास्थ्य पिछले काफी समय से खराब था। उनका इलाज दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में चल रहा था जहां उनकी हालत गंभीर थी। पिछले कई दिनों से आनंद सिंह बिष्ट वेंटीलेटर पर थे जिसके बाद आज सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली। उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थि ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि, ‘ये मुश्किल का दौर है और हमारी सांत्वनाएं सीएम योगी आदित्यनाथ सिंह के साथ हैं।’

पिता के निधन की खबर सुन भावुक हुए सीएम

सीएम योगी को पिता के निधन की सूचना तब दी गई जब वह कोरोना संकट पर बनी टीम-11 के साथ मीटिंग कर रहे थे। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद सीएम योगी की आंखें कुछ देर के लिए नम हो गई। लेकिन फिर भी उन्होंने अधिकारियों के साथ मीटिंग जारी रखी। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने को लेकर जारी इस बैठक में उन्होंने जरूरी दिशा निर्देश दिए।

लीवर और किडनी की समस्या से थे पीड़ित

आनंद सिंह बिष्ट के पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव पंचूर (उत्तराखंड) ले लाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि बिष्ट के शव को सोमवार को ही उत्तराखंड ले जाया जाएगा। मालूम हो कि सीएम योगी के पिता को लीवर और किडनी की समस्या थी। दिक्कत बढ़ने पर बीते 13 मार्च को उन्हें दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था। अस्पताल के गेस्ट्रो विभाग के डॉ. विनीत आहूजा की टीम उनका इलाज कर रही थी।

फॉरेस्ट रेंजर पद से हुए थे रिटायर

आनंद सिंह उत्तराखंड के यमकेश्वर के पंचूर गांव में रहते थे। वे उत्तराखंड में फॉरेस्ट रेंजर के पद से 1991 में रिटायर हो गए थे और इसके बाद से ही पत्नी सावित्री देवी के साथ पैतृक गांव में रह रहे थे। उस दौरान सीएम योगी बीएससी की पढ़ाई कर रहे थे। बाद में महंत अवेद्यनाथ के संपर्क में आने पर वो उनके साथ चले आए। हालांकि योगी आदित्‍यनाथ का अपने परिवार से लगातार संपर्क बना रहा।

मिलनसार व्यक्ति थे बिष्ट

स्वाभाव से आनंद सिंह बिष्ट काफी बेहद मिलनसार और सामाजिक व्यक्ति थे। वह सभी से मेलजोल रखते थे। तबीयत बिगड़ने के बाद भी वे लोगों से मिलना-जुलना बनाए रखे थे। व्यवस्तता के कारण सीएम योगी की अपने पिता से ज्यादा मुलाकात नहीं हो पाती थी। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद एक बार जब सीएम योगी किसी कार्यक्रम के सिलसिले में बिजनौर गए थे तब कार्यक्रम के आयोजकों ने योगी के पिता को भी आमंत्रण भेजा था। तब आनंद सिंह अपने पोते अविनाश मोहन बिष्ट के साथ कार्यक्रम में शामिल हुए थे। तब मंच पर सीएम योगी ने पिता का शाल ओढ़ाकर स्वागत किया था तो दोनों भावुक हो गए थे।

Related posts