कांग्रेस का मोदी सरकार पर निशाना-नोटबंदी की तरह लॉकडाउन से देश को काफी नुकसान हुआ, 14 करोड़ से ज्यादा लोगों की नौकरी गई

congress

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. देशभर में इन दिनों कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इसे रोकने के लिए केंद्र सरकार हर प्रयास कर रही है। हालांकि, फिर भी विपक्ष केंद्र सरकार को हर थोड़े दिन में अपना निशाना बनाता रहता है। शनिवार को कांग्रेस ने एक बार फिर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, ‘नोटबंदी की तरह लॉकडाउन से भारत का काफी नुकसान हुआ है।’

14 लाख से ज्यादा लोग नौकरी खो चुके

कांग्रेस ने कहा कि, ‘लॉकडाउन के कारण 14 करोड़ से अधिक लोग अपनी नौकरी खो चुके हैं। आने वाले हफ्तों में लाखों के नौकरी जाने की आशंका है, क्या भाजपा सरकार के पास उनकी मदद करने की योजना है?’ बता दें कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा थे। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने पीएम मोदी को कुछ सुझाव भी दिए। कपिल सिब्बल ने कहा कि, ‘कोरोना संक्रमण से मुक्त होने के बाद एक नया हिन्दुस्तान बनाने की चुनौती है। मैं प्रधानमंत्री जी से आग्रह करूंगा कि जो कल की बातें हैं, CAA, NRC की बातें हैं…छोड़ो कल की बातें…कल की बात पुरानी…. अब नया दौर है….कोविड 19 के बाद एक नया दौर शुरू हुआ है। प्रधानमंत्री उन बातों पर गौर करें जहां विपक्ष, सत्ता पक्ष और सब मिलकर देश को आगे बढ़ाने पर काम करें।’

कांग्रेस ने सरकार से की यह मांग

इतना ही नहीं बल्कि वरिष्ठ वकील और पूर्व कानून मंत्री सिब्बल ने केंद्र सरकार से यह मांग भी की थी कि, ‘कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए आपदा प्रबंधन कानून के तहत एक नेशनल प्लान बनाया जाए। अब वक्त आ गया है कि है सरकार को लॉकडाउन के ऊपर विचार करना चाहिए। सरकार लोगों को लॉकडाउन में और इकोनॉमी को लॉकआउट में नहीं रख सकती है।’

कोरोना पर नेशनल प्लान कब बनेगा

सिब्बल ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 का जिक्र करते हुए कहा कि, ‘इस अधिनियम की धारा 11 कहती है कि पूरे देश के आपदा प्रबंधन के लिए एक योजना बनाई जाएगी। कोविड-19 आया है तो उसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक योजना बनेगी। वो राष्ट्रीय योजना क्या है? 24 मार्च से आज अप्रैल का चौथा हफ्ता हो गया आज भी कोई राष्ट्रीय योजना नहीं है।’

Related posts