सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में शशि थरूर को मिली बड़ी राहत, सभी आरोपों से बरी

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. कांग्रेस सांसद शशि थरूर को पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में दिल्ली की कोर्ट से राहत मिल गई है। दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में शशि थरूर को सभी आरोपों से बरी कर दिया है। कोर्ट से राहत मिलने के बाद थरूर ने अदालत का शुक्रिया अदा किया और कहा कि 7।5 साल से इस टॉर्चर और दर्द से गुजर रहा था।

सुनंदा पुष्करकी मौत 17 जनवरी, 2014 को दिल्ली के एक बड़े होटल में हुई थी। अपनी मौत से कुछ दिनों पहले उन्होंने आरोप लगाया था कि उनके पति थरूर के एक पाकिस्तानी पत्रकार के साथ संबंध हैं। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने शशि थरूर के खिलाफ धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) और धारा 498-A (पति या उसके रिश्तेदार द्वारा अत्याचार) के तहत केस दर्ज किया था। थरूर पर पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने और उनके साथ क्रूरता से पेश आने का आरोप लगाया गया था। शशि थरूर को जिन धाराओं के तहत आरोपी बनाया गया था, अगर उसके तहत दोष साबित हो जाता तो उन्हें 10 साल तक कैद की सजा हो सकती थी।

जहर से हुई थी मौत!

सुनंदा पुष्कर की मौत का मामला तब काफी हाईप्रोफाइल केस माना गया था। 29 सितंबर 2014 को एम्स के मेडिकल बोर्ड ने सुनंदा के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंपा थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि सुनंदा की मौत जहर से हुई है। बोर्ड ने कहा था कि कई ऐसे रसायन हैं जो पेट में जाने या खून में मिलने के बाद जहर बन जाते हैं।

शशि थरूर को क्यों बनाया गया था आरोपी?

शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर की शादी 2010 में मलयाली रीति-रिवाज से हुई थी। दोनों की मुलाकात 2007 में एक कार्यक्रम के दौरान हुई थी। थरूर की ये तीसरी शादी थी। शादी के चार साल बाद ही दोनों में अनबन की खबरें आने लगी थीं। जनवरी 2014 में दिल्ली के एक होटल में सुनंदा का शव मिला था।

बाद में जब जांच शुरू हुई तो इसमें शशि थरूर का नाम सामने आने लगा। दिल्ली पुलिस ने जो चार्जशीट दाखिल की थी, उसमें सुनंदा पुष्कर के भाई का भी बयान था। सुनंदा के भाई ने बताया था कि वो अपनी शादीशुदा जिंदगी से तो खुश थीं, लेकिन मौत से कुछ दिन पहले से शादीशुदा जिंदगी को लेकर तनाव में थीं। पुलिस को नौकर ने भी अपने बयान में कहा था कि सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर के बीच लड़ाई होती रहती थी।

इस मामले में शशि थरूर पर केस दर्ज किया गया था। फॉरेंसिक साइंस ऑटोप्सी एनालिसिस रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि सुनंदा पुष्कर मेंटल टेंशन में थीं और कई दिनों से खाना तक छोड़ दिया था। वो लगातार स्मोकिंग कर रही थीं। रिपोर्ट में नेचुरल डेथ नहीं होने की आशंका भी जताई गई थी।

Related posts