महाराष्ट्र में नया ट्विस्ट, कांग्रेस सांसद ने चिट्ठी लिखकर सोनिया से कही शिवसेना को समर्थन देने की बात

congress shivsena

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए कई दिन हो चुके हैं लेकिन यहां अब तक सरकार गठन का रास्ता साफ नहीं हो सका है। मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर बहुमत प्राप्त गठबंधन की दोनों सहयोगी पार्टियों बीजेपी और शिवसेना के बीच खींचतान जारी है। इसी बीच महाराष्ट्र कांग्रेस के कद्दावर नेता और सांसद हुसैन दलवई ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर शिवसेना को समर्थन देने की सलाह दी है।



हुसैन दलवई ने सोनिया गांधी से अपील की है कि, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), कांग्रेस और शिवसेना को मिलकर सरकार गठन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि, ‘प्रतिभा पाटिल और प्रणव मुखर्जी के राष्ट्रपति पद के चुनाव में शिवसेना ने कांग्रेस को सपोर्ट किया था। ऐसे में अब कांग्रेस को शिवसेना का साथ देकर बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर देना चाहिए।’ कांग्रेस सांसद ने आगे कहा कि, ‘जहां महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी में सरकार गठन पर सहमति नहीं बन पा रही है, ऐसे में कांग्रेस, अल्पसंख्यक समुदाय के लोग, गठबंधन में हमारी सहयोगी एनसीपी और शिवसेना साथ मिलकर सरकार बनाएं।’

हालांकि दलवई ने इसे अपना निजी विचार बताया है। दलवई ने पत्र में लिखा कि, ‘सब जानते हैं कि विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने हमारे कई विधायक और नेताओं को अपने खेमे में शामिल कर लिया था। अगर वे सरकार बनाने में सक्षम होते हैं, तो वे फिर से और अधिक सख्ती के साथ ऐसा करेंगे।’ उन्होंने यह भी लिखा कि, ‘कई मुद्दों पर शिवसेना को भाजपा से अलग देखा गया है, हालांकि अतीत में उन्होंने एक साथ सत्ता साझा की है। अगर हम मिलकर सरकार बनाएं तो ऐसा होने से रोका जा सकता है। हमें याद रखना चाहिए कि बीजेपी ने लगातार एक राष्ट्र, एक नेता, एक पार्टी, एक धर्म के आरएसएस के सिद्धांत का पालन किया है, लेकिन हाल के दिनों में शिवसेना का अधिक समावेशी रुख देखा गया है।’

गौरतलब है कि इससे पहले महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष बालासाहब थोराट ने भी अपने बयान में कहा था कि, यदि एनसीपी और शिवसेना साथ मिलकर सरकार बनाने के बारे में सोचते हैं तो हम दिल्ली में आलाकमान से बात करेंगे।’ थोराट के मुताबिक, उन्हें अब तक शिवसेना की ओर से कोई भी प्रस्ताव नहीं मिला है। यदि उनकी तरफ से कोई प्रस्ताव आता है तो वह इस मसले पर दिल्ली में हाईकमान के साथ बातचीत करेंगे।

ये भी पढ़े…

फडणवीस का शिवसेना को करारा जवाब- राज्य में कोई 50-50 नहीं, पूरे पांच साल मैं ही रहूंगा मुख्यमंत्री

महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना को बहुमत, हरियाणा में जेजेपी के साथ सरकार बना सकती बीजेपी

महाराष्ट्र चुनाव परिणाम : नतीजे आने से पहले शिवसेना ने बीजेपी को दिखाई ताकत, आदित्य के लिए मांगा मुख्यमंत्री पद!

Related posts