बुलेटप्रूफ जैकेट भी पार कर गई गोली, पर्स में रखे सिक्‍कों में जा लगी, बची कांस्‍टेबल की जान

uttar pradesh,constable vijendra kumar

चैतन्य भारत न्यूज

फिरोजाबाद. नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन हुए हैं। इस दौरान फिरोजाबाद में एसएसपी सचिन पटेल के साथ चल रहे कॉन्स्टेबल विजेंद्र कुमार (24) को दूसरा जीवन मिला।



uttar pradesh,constable vijendra kumar

दरअसल शुक्रवार को फिरोजाबाद में हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान एक बुलेट विजेंद्र के बुलेटप्रूफ जैकेट के आर-पार चली गई और सिक्कों से भरे पर्स में जाकर फंस गई। विजेंदर ने पर्स जैकेट की ऊपर वाली जेब में रखा हुआ था जिससे उनकी जान बच गई। आश्चर्य वाली बात यह है कि इस बात की जानकारी विजेंद्र को हिंसक प्रदर्शन के करीब 15 घंटे बाद पता चली जब उन्होंने अपनी जैकेट उतारी।

इसके बाद विजेंद्र ने डीएम और एसएसपी को इस घटना की जानकारी दी। विजेंद्र ने कहा कि, ‘यह मेरा दूसरा जीवन है और मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं।’ विजेंद्र ने बताया कि, ‘भारी पथराव और फायरिंग के बीच मुझे हिंसक भीड़ को रोकना था। इसी दौरान एक गोली मेरे सीने की तरफ आई। मेरी बुलेटप्रूफ जैकेट तो इससे नहीं बचा पाई लेकिन मेरे पर्स जिसमें मैंने भगवान शिव की तस्वीर और कुछ सिक्के रखे थे उसने बचा लिया।’

uttar pradesh,constable vijendra kumar

जानकारी के मुताबिक, इस हिंसक प्रदर्शन में 40 पुलिसकर्मी घायल हो गए जिसमें थानाध्यक्ष, सब इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल भी शामिल हैं। गौरतलब है कि, नागरिकता कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश में मरने वालों की संख्या बढ़कर 18 हो गई है। वहीं घायल पुलिसकर्मियों का आंकड़ा 263 पहुंच चुका है। इनमें 57 पुलिसकर्मी प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से घायल हुए हैं।

ये भी पढ़े…

उप्र में नागरिकता कानून पर बवाल, 9 लोगों की मौत, 21 जिलों में इंटरनेट बैन, 31 जनवरी तक धारा 144 लागू

नागरिकता कानून को लेकर देशभर में बवाल, UP के गाजियाबाद, मेरठ, बरेली समेत 14 जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद

नागरिकता कानून पर बेटी ने किया विरोध तो पापा सौरव गांगुली ने ऐसे किया बचाव, उठे कई सवाल

Related posts