गुजरात में अधिकारियों की सलाह- कोरोना काल में मेहमानों का स्वागत हल्दी वाले गर्म दूध से करें, ताजा नाश्ता परोसें

चैतन्य भारत न्यूज

अहमदाबाद. कोरोना महामारी ने सब कुछ बदल डाला तो त्योहार कैसे अछूते रह सकते हैं। दीपोत्सव का पर्व देश भर में धूमधाम से मनाया जाता है और लोग दोस्तों, रिश्तेदारों को बधाई देने एक-दूसरे के घर जाते हैं। मेहमाननवाजी भी की जाती है। कोरोना काल में मेहमाननवाजी भी बदली नजर आएगी। उत्सव प्रिय गुजरात में तो अधिकारियों ने इसके लिए एडवाइजरी भी जारी की है। अधिकारियों की अपील है कि इस दीपावली मेहमानों की आवभगत हल्दी वाले गर्म दूध से करें और उन्हें ताजा नाश्ता ही परोसें। गौरतलब है कि हल्दी वाला गर्म दूध इम्युनिटी बढ़ाने वाला माना जाता है।

यह भी कहा जा रहा है कि उत्सव का उल्लास अपनी जगह है। उसे कायम रहने दें लेकिन सामाजिक जिम्मेदारी समझते हुए दो गज की दूरी रखें। किसी के यहां मिलने जाएं या कोई मिलने आए तो मास्क जरूर पहने रखें। मेहमानों से भी ऐसा आग्रह कर सकते हैं। यह दोनों की सुरक्षा के लिए जरूरी है। मेहमानों के हाथ सैनिटाइज करवाना भी न भूलें और इसका आग्रह करने से भी न हिचकें। छोटे बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बुजुर्ग, काफी समय से बीमार चल रहे लोगों के पास जाने से बचें।

यहां के नगर निगम अधिकारियों ने नाश्ते से संबंधित सलाह भी दी है। इसके मुताबिक हल्दी युक्त गर्म दूध, ग्रीन-टी, मसालेदार चाय, नींबूयुक्त गर्म पानी मेहमानों के सामने पेश किया जा सकता है। मिठाइयों के बजाय काजू, बादाम, पिश्ता जैसे सूखे मेवे भी परोसे जा सकते हैं। यदि आप इसे और बेहतर करना चाहें तो फलों के अलावा अंकुरित या उबले अनाज सर्व कर मेहमानों की इम्युनिटी बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

 

Related posts