कई आपको भी तो नहीं मिल गया वैक्सीनेशन का नकली सर्टिफिकेट, सरकार ने बताए पहचान के तरीके

चैतन्य भारत न्यूज

देश में जनवरी से वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। कई लोगों ने कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु एप पर बुकिंग कर वैक्सीन लगवाई है तो कई लोगो ने लाइन में लगकर रजिस्ट्रेशन कराया है। वैक्सीन के दोनों दोसे लगने के बाद सर्टिफिकेट मिल रहा है। लेकिन कई बार लोगों को नकली सर्टिफिकेट भी मिल गया है। ऐसे में सरकार ने सर्टिफिकेट के असली-नकली की पहचान जे कुछ तरीके बताएं हैं।

ऐसे करें सर्टिफिकेट की पहचान

कई लोगों ने नकली वैक्सीन सर्टिफिकेट की शिकायत की है जिसके बाद सरकार ने लोगों को सर्टिफिकेट की जांच करने की ऑनलाइन सुविधा दी है। अब आप घर बैठे ही अपने फोन से सर्टिफिकेट की जांच कर सकते हैं। सबसे पहले अपने फोन के ब्राउजर में verify.cowin.gov.in/ टाइप करके ओके करें। इसके बाद आपको Verify a vaccination certificate का विकल्प दिखेगा और इसके ठीक नीचे स्कैन क्यूआर कोड का विकल्प दिखेगा। इस विकल्प पर क्लिक करके कैमरे को खोलने के लिए ब्राउजर को इजाजत दें। अब अपने सर्टिफिकेट पर दिए गए क्यूआर कोड को स्कैन करें। QR कोड को स्कैन करने के बाद ‘Certificate Successfully Verified’ दिखता है तो आपका सर्टिफिकेट असली है और यदि ‘Certificate Invalid’ का मैसेज मिलता है तो आपका सर्टिफिकेट नकली है।

आरोग्य सेतु एप पर मिल रहा ब्लू टिक

भारत सरकार ने लोगों को आरोग्य सेतु एप पर ब्लू टिक देने का एलान किया है। Aarogya Setu एप पर उनलोगों के अकाउंट के साथ ब्लू टिक मिलेगा जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है। आरोग्य सेतु एप पर वैक्सीन लगवाने वालों को ब्लू टिक और ब्लू शील्ड मिलेगा। इसका फायदा यह होगा कि बिना सर्टिफिकेट देखे उनलोगों को पहचान आरोग्य सेतु एप से ही हो जाएगी जिन्होंने वैक्सीन लगवा ली है।

 

Related posts