भारत को मिलेगी कोरोना की तीसरी वैक्सीन, ‘स्पुतनिक V’ को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मिली मंजूरी

चैतन्य भारत न्यूज

देश में कोविड 19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकारों को परेशानी में डाल दिया है। इसी बीच एक राहत भरी खबर आई है। भारत में अब एक और वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है। सोमवार को वैक्सीन मामले की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने रूस की स्पुतनिक वी को मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही कोरोना से निपटने के लिए देश को तीसरी वैक्सीन मिल गई है।

स्पूतनिक-वी के इस्तेमाल को मिली मंजूरी

कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी के इस्तेमाल लिए सोमवार को एक्सपर्ट कमेटी की एक बैठक हुई जिसमें स्पूतनिक-वी वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी मिल गई है। सूत्रों की मानें, तो स्पुतनिक द्वारा ट्रायल का डाटा पेश किया गया है, जिसके आधार पर ये मंजूरी मिली है। हालांकि, आज शाम तक ही सरकार द्वारा इसपर स्थिति स्पष्ट की जा सकती है।

डॉ. रेड्डी लैब्स के साथ मिलकर तैयार की वैक्सीन

बता दें कि भारत में स्पुतनिक वी हैदराबाद की डॉ. रेड्डी लैब्स के साथ मिलकर ट्रायल किया है और उसी के साथ प्रोडक्शन चल रहा है। ऐसे में वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद भारत में वैक्सीन की कमी को लेकर शिकायत कम हो सकती है। कोरोना के खिलाफ स्पुतनिक वी की सफलता का प्रतिशत 91.6 फीसदी रहा है, जो कंपनी ने अपने ट्रायल के आंकड़ों को जारी करते हुए दावा किया था। रूस का RDIF हर साल भारत में 10 करोड़ से अधिक स्पुतनिक वी की डोज़ बनाने के लिए करार कर चुका है।

Related posts