भारत में प्रति लाख व्यक्ति पर कोरोना वायरस संक्रमण के मामले विश्व में सबसे कम

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. देशभर में भले ही कोरोना वायरस के मरीज बढ़ रहे हो बावजूद इसके भारत में प्रति लाख व्यक्ति पर कोरोना वायरस संक्रमण के मामले दुनिया में सबसे कम हैं। इतना ही नहीं बल्कि मरीजों के ठीक होने की दर भी करीब 56 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की 21 जून की 153वीं स्थिति रिपोर्ट का हवाला देते हुए सोमवार को कहा कि, हमारे देश में प्रति एक लाख आबादी पर 30.04 कोरोना वायरस के मामले हैं। जबकि वैश्विक औसत तीन गुणा से भी ज्यादा 114.67 मरीज हैं। मंत्रालय ने यह भी कहा कि, ‘ये कम मामले कोविड-19 की रोकथाम, प्रसार रोकने और प्रबंधन के लिए केंद्र सरकार के साथ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश के उठाए गए क्रमिक, एहतियाती कदमों की बदालैत हुए हैं।’

डब्ल्यूएचओ की स्थिति रिपोर्ट का उल्लेख करते हुए मंत्रालय ने कहा है कि, ‘अमेरिका में प्रति लाख आबादी पर 671.24 मामले हैं, जबकि जर्मनी, स्पेन, ब्राजील और ब्रिटेन में प्रति लाख आबादी पर क्रमश: 583.88, 526.22, 489.42 और 448.86 मामले हैं। रूस में प्रति लाख आबादी पर 400.82 मामले हैं जबकि इटली, कनाडा, ईरान और तुर्की में क्रमश: 393.52, 268.98, 242.82 और 223.53 मामले हैं।

लगातार बढ़ रहा जांच का दायरा

देश में बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। सरकारी प्रयोगशाला की संख्या बढ़कर 723 हो गई है और निजी प्रयोगशाला की संख्या 262 हो गई। यानी कुल 985 प्रयोगशालाओं में रोजाना कोरोना के मामलों की जान हो रही है।

Related posts