रंग पंचमी पर कहीं आपके घर में ना घुस जाए कोरोना, ऐसे करें इस जानलेवा वायरस की घर में एंट्री बंद

चैतन्य भारत न्यूज

देश में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। यह बीमारी एक से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैलती है। रंग पंचमी के दिन ध्यान ना देने पर कोरोना वायरस का संक्रमण आपके घर में घुस सकता है। इसे रोकने के लिए आपको इन 8 बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

  • रंग पंचमी पर घर में आने वाले दोस्तों और रिश्तेदारों में कोरोना के लक्षणों की पहचान करें। यदि उन्हें खांसी, बुखार या किसी अन्य लक्षण की शिकायत है तो उन्हें घर आने का न्योता न दें। घर या पार्क में ज्यादा लोगों को इकट्ठा न करें। गुलाल या रंग लगाते समय भी पूरा एहतियात बरतें।
  • घर के किसी भी सामान को हाथ लगाने से पहले और बाद में अच्छे से हाथों को सैनिटाइज करें। मोबाइल, गाड़ी की चाबी, टीवी का रिमोट या दरवाजे के बाहर लगी डोरबैल को छूने से पहले और बाद में हाथ सैनिटाइज जरूर करें।
  • रंग पंचमी खेलने के लिए सिर्फ ऑर्गेनिक कलर्स का ही इस्तेमाल करें। पिचकारी से होली खेलें ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हो सके। रंग लगाने के बाद पास जाकर गले लगने या हाथ मिलाने की बजाय मुंह से बोलकर शुभकामनाएं दें।
  • रंग पंचमी के जश्न में गाइडलाइंस न भूलें। दोस्त, पड़ोसी और रिश्तेदारों से निश्चित दूरी बनाकर रखें। साथ ही, मास्क से फेस को अच्छी तरह कवर करें। गुलाल या रंग सावधानी के साथ लगाएं। ख्याल रखें कि ये आंख या मुंह में न जाएं।
  • इस साल रंग पंचमी ना खेलना एक समझदारी भरा कदम है, लेकिन फिर भी आप रंग पंचमी खेल ही रहे हैं तो ध्यान रहे कि अच्छे से नहाने या हैंडवॉश करने के बाद ही खाने-पीने की चीजों को हाथ लगाएं। आपकी एक गलती से पूरा परिवार बीमारी की चपेट में आ सकता है।
  • बाजार से खरीदारी या दोस्तों से उपहार लेने की बजाए ऑनलाइन शॉपिंग करें। त्योहार के समय में घर से बाहर निकलना आपको भारी पड़ सकता है। ऑनलाइन सामान की डिलीवरी होने पर उसे बाहर ही अच्छी तरह से सैनिटाइज कर लें और फिर घर के अंदर लाएं।
    घर में बीमार और बुजुर्ग लोगों का ज्यादा ख्याल रखें। बाहरी लोगों को उनसे मिलने न दें। यदि उनमें किसी प्रकार के लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो उनके रहने का इंतजाम किसी अलग कमरे में रखें।

Related posts