14 अप्रैल के बाद भी जारी रह सकता है लॉकडाउन, केंद्र सरकार गंभीरता से कर रही विचार

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों के लिए पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान किया। 21 दिनों के लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल को खत्म होगी लेकिन अभी इसके हटने के आसार कम दिखाई दे रहे हैं। दरअसल कई राज्य सरकारें और विशेषज्ञ अभी लॉकडाउन हटाने के पक्ष में नहीं हैं और वे केंद्र सरकार से इसे बढ़ाने को कह रहे हैं। केंद्र सरकार भी लॉकडाउन को बढ़ाने पर विचार कर रही है।


देश में लॉकडाउन के बाद भी कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। पिछले तीन दिनों में ही कोरोना वायरस के हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं और दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत हुई है। फिलहाल, भारत में 4400 से ज्यादा कोरोना मरीज हैं। इनमें से 114 लोगों की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली समेत कई प्रदेशों में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में अचानक से बढ़ोतरी हुई है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मांग की थी कि मौजूदा हालात को देखते हुए लॉकडाउन को और आगे बढ़ाया जाए। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा था कि, लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी राज्य में बाहर के लोगों को प्रवेश देने के लिए परमिट व्यवस्था लागू होगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बही यही कहना है कि, ‘लॉकडाउन को तुरंत नहीं हटाया जाना चाहिए। इसको चरणबद्ध तरीके से हटाया जाना चाहिए।’ साथ ही कई और राज्यों ने भी लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के संकेत दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को केंद्रीय सरकार के मंत्रियों की बैठक हुई। यह बैठक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के घर पर हुई जिसमें कोरोना संकट और लॉकडाउन को लेकर चर्चा हुई। इस बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि, लॉकडाउन को हटाने या आगे बढ़ाने का फैसला नहीं लिया गया है। अभी हालात पर नजर रखी जा रही है। फैसला बाद में लिया जाएगा।

Related posts