भारत पहुंचा कोरोना वायरस! मुंबई में मिले दो मरीज, चीन की भारतीय दूतावास ने जारी की एडवाइजरी

corona virus

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. चीन में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) ने अब भारत में भी दस्तक दे दी है। मुंबई में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मामले सामने आए हैं। दोनों को कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका परीक्षण कराया जा रहा है।



जानकारी के मुताबिक, दोनों मरीज चीन से लौटे हैं, इसलिए उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है। कस्तूरबा अस्पताल के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, ‘दोनों मरीजों को हल्के सर्दी-जुकाम के लक्षण हैं।’ अस्पताल प्रशासन के मुताबिक, चिंचपोकली के कस्तूरबा अस्पताल में कोरोना वायरस के मरीजों को अलग वार्ड दिया गया है जिससे उनकों बाकी मरीजों के संपर्क से दूर रखा जा सके और हर संभव इलाज किया जा सके।

26 लोगों की हुई मौत 

बता दें चीन में कोरोना वायरस फेलने से लोगों में दहशत का माहौल है। इसके चलते बड़ी संख्या में लोगों कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और कई लोगों की मौत हो चुकी है। बता दें कोरोना वायरस के कारण चीन में अब तक 26 लोगों ने अपनी जान गवां दी है। जबकि 830 लोग इससे संक्रमित हैं। कोरोना वायरस से प्रभावित वुहान समेत 9 शहरों को बंद कर दिया गया है।

गणतंत्र दिवस समारोह हुआ रद्द

बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास ने शुक्रवार को एक एडवाइजरी जारी की है। भारतीय दूतावास ने इस बार गणतंत्र दिवस समारोह कार्यक्रम रद्द कर दिया है। दूतावास ने कहा कि, ‘चीन में कोरोना वायरस के प्रसार और सार्वजनिक सभाओं, कार्यक्रमों को रद्द करने के चीनी अधिकारियों के निर्णय के कारण भारतीय दूतावास ने 26 जनवरी को आयोजित होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह को रद्द करने का फैसला किया है।’

भारतीय दूतावास ने दिए ये निर्दश-

  • लोग जितना संभव हो सके, मास्क लगाकर रहें। खासकर सार्वजनिक जगहों पर मास्क का इस्तेमाल करें।
  • कुछ भी खाने-पीने से पहले या किसी से हाथ मिलाने के बाद अच्छी तरह हाथ धोएं।
  • जब भी छीकें या खासें तो अपना मुंह ढंक लें। साथ ही
  • जिन भी लोगों में बीमारी के लक्षण दिख रहे हों उनसे दूरी बनाए रखें।
  • जानवरों के संपर्क से भी दूर रहें। पशु बाजार, फार्म्स में जाने से बचें।
  • यदि यात्री खुद को बीमार महसूस करता है, तो वह एयरलाइन्स के क्रू से संपर्क कर सकता है।
  • अगर बहुत जरूरी न हो, तो चीन की यात्रा न करें।

भारतीय दूतावास ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

बता दें चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप है। वुहान सेंट्रल चीन का घनी आबादी वाला शहर है। जानकारी के मुताबिक, वुहान में 700 से अधिक भारतीय छात्र पढ़ाई करते हैं। इनमें से अधिकतर छात्र मेडिकल की पढ़ाई करते हैं। शहर बंद होने के कारण भारतीय छात्रों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। भारतीय दूतावास ने चीन में फंसे छात्रों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर +8618612083629 और +8618612083617 जारी किया है। वहीं भारत सरकार ने कहा कि, चीन में फंसे सभी भारतीय छात्रों को सुविधाएं मुहैया कराने के लिए चीनी अधिकारियों के साथ लगातार बात की जा रही है।

अब तक नहीं मिला कोई इलाज

कोरोना वायरस का खौफ जैसे-जैसे बढ़ रहा है, उतनी ही तेजी से वैज्ञानिक इसका इलाज खोजने में जुटे हैं। चीन के शोधकर्ताओं ने खुलासा किया था कि कोरोना वायरस सांपों से इंसान तक पहुंचा है। वैज्ञानिकों को इस बात के कई सबूत मिले की कोरोना वायरस इंसानों में आने से पहले सांपों में था। वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा इसलिए नहीं हुआ कि इतने लोगों को सांप ने काटा है। बल्कि ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि चीन में सांप खाने की परंपरा है। चीन के वुहान में ऐसा बाजार है जहां सांप, चमगादड़, मैरमोट्स, पक्षी, खरगोश आदि बिकते हैं। इन्हें वहां के लोग खाते हैं।

ये भी पढ़े…

कोरोनावायरस ने चीन में ली 17 लोगों की जान, वुहान में सब बंद, वैज्ञानिकों का दावा- सांप ने फैलाया यह जानलेवा वायरस

बारिश में भीगने से नहीं बल्कि वायरस के हमले से बिगड़ती है सेहत

पाकिस्तान में बढ़ रही यह गंभीर बीमारी, पीएम इमरान खान ने चिंता जताते हुए कहा- यह शर्म की बात है

ठंडक बढ़ने के कारण निमोनिया की चपेट में आ रहे हर उम्र के लोग, जानें इसका कारण, लक्षण, उपचार 

Related posts