कोरोना वायरस का खौफ: लोगों ने ओवन में जला डाले और वॉशिंग मशीन में धो डाले खरबों डॉलर

चैतन्य भारत न्यूज

इस समय पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने कोहराम मचा रखा है। इस महामारी से निपटने के लिए सभी देश अपने-अपने संसाधनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। वैसे तो हर देश में ही कोरोना से डर का माहौल बना हुआ है लेकिन दक्षिण कोरिया में लोगों के बीच कोरोना का काफी ज्यादा डर है। हैरानी वाली बात यह है कि कोरोना के डर से यहां के लोगों ने 2.25 ट्रिलियन डॉलर मूल्य के नोट और सिक्के जला डाले हैं।

खरबों डॉलर के नोट से जूझना पड़ रहा

जानकारी के मुताबिक, नोटों और सिक्कों के जरिए कोरोना वायरस फैलने के डर से दक्षिण कोरिया में लोगों ने इन्हें या तो वॉशिंग मशीन में धो डाला या फिर माइक्रोवेव और ओवन में जला डाला। इसकी जानकारी दक्षिण कोरिया के रिजर्व बैंक ने दी है। उन्होंने कहा कि, ‘लोगों की इस हरकत की वजह से बैंक को खरबों डॉलर के नोट से जूझना पड़ रहा है।’ बैंक ने यह भी कहा कि, ‘पिछले छह महीने में पिछले साल की तुलना में लोगों ने तीन गुना ज्यादा जले हुए नोट बदलें हैं। जले हुए नोटों को बदलने में आई तेजी के पीछे सबसे बड़ा कारण कोरोना वायरस का खौफ है।’

सबसे ज्यादा ओवन में जलाए गए नोट

बता दें इसी साल जनवरी से जून के बीच में बैंक को 1.32 अरब वान यानि कि 1.1 अरब डॉलर जले हुए नोट लौटाए गए हैं। जबकि पिछले साल की बात करें तो इसी अवधि में इन नोटों का मूल्य 40 लाख डॉलर था। इस साल कोरोना वायरस की वजह से लोगों के मन में डर बैठ गया है और वो नोटों को या तो जला रहे हैं या धो रहे हैं। बैंक ऑफ कोरिया में सबसे ज्यादा ओवन में जले हुए नोट मिले हैं। बैंक ने बताया कि साल 2020 के पहले छह महीने में 2.69 ट्रिलियन वान या 2.25 ट्रिलियन डॉलर मूल्य के कटे-फटे और जले हुए नोट और सिक्के मिले हैं।

Related posts