तीन-तीन किस्म का होता है कोरोना वायरस, टाइप-बी से हो रही सबसे ज्यादा मौतें

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोनावायरस ने दुनियाभर में तबाही मचा दी है। अब तक इस वायरस ने पूरी दुनिया में एक लाख से ज्यादा लोगों की जान ले ली है और 18 लाख से ज्यादा लोग इसके संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। कोरोना वायरस का अब तक कोई इलाज भी नहीं मिल सका है। इसी बीच कोरोना वायरस से जुड़ी एक महत्वपूर्ण जानकारी सामने आई है। हाल ही में हुए शोध में वैज्ञानिकों ने यह पता लगाया है कि जानलेवा कोरोना वायरस एक नहीं बल्कि तीन-तीन किस्म का है।

तीन किस्मों में बांटा गया

जी हां… कोरोना वायरस की इन तीनों किस्मों को वैज्ञानिकों ने टाइप-ए, टाइप-बी और टाइप-सी कैटेगरी में रखा गया है। दरअसल कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दिसंबर से लेकर मार्च तक की कोरोना वायरस संक्रमण की जेनेटिक हिस्ट्री खंगाली है, जिसमें इसकी तीन अलग-अलग किस्म पाई गई हैं।

ऐसे फैला टाइप-ए

शोधकर्ताओं ने रिपोर्ट में यह दावा किया है कि कोरोना टाइप-ए वायरस पहले पैंगोलिन जैसे किसी जानवर से चमगादड़ में फैला। फिर ये चीन के शहर वुहान के मीट मार्केट से होता हुआ पूरे शहर में फैला और इंसानों को संक्रमित किया। चीन में लोगों को संक्रमित करने के बाद यह वायरस सीमा पार कर दुनिया के अन्य देशों में पहुंच गया। धीरे-धीरे कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में अपनी पकड़ बना ली। टाइप-ए वायरस के सबसे ज्यादा शिकार लोग फिलहाल अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में ही हैं। दोनों देशों में इसके तकरीबन 4,00,000 से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। सिर्फ अमेरिका की ही बात की जाए तो यहां टाइप-ए वायरस के दो-तिहाई लोग इस जानलेवा वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

सबसे ज्यादा टाइप-बी का शिकार हुए लोग

शोधकर्ताओं के मुताबिक, कोरोना वायरस टाइप-बी सबसे खतरनाक रूप है। कोरोना को महामारी बनाने में यह किस्म ही जिम्मेदार है। ब्रिटेन के डॉक्टर पीटर फॉस्टर की टीम ने पाया कि टाइप-बी वायरस की वजह से अब तक हजारों लोगों की जान जा चुकी है। चीन में हजारों लोगों की मौत होने के बाद टाइप-बी यूरोप, दक्षिण अमेरिका और कनाडा तक जा पहुंचा। इसके बाद इसने फिनलैंड, जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम, डेनमार्क, ब्रिटेन और जापान में लोगों को संक्रमित किया और हजारों की जान ली। दुनियाभर में इस समय कोरोना वायरस टाइप-बी के शिकार होने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है। यह वायरस ही चीन के बाहर सबसे ज्यादा तेजी से फैला है। कोरोना वायरस का तीसरा किस्म टाइप-सी, टाइप-बी के विपरीत है। टाइप-सी के शिकार अभी तक केवल यूरोप और सिंगापुर में ही देखने को मिले हैं।

भारत में तेजी से बढ़ रहे मरीज

बता दें पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के अब तक साढ़े 18 लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। जबकि एक लाख से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में अब तक कोरोना के मामलों की संख्या 9152 तक पहुंच गई है। अब तक 308 लोगों की इस महामारी के कारण मौत हो चुकी है, जबकि 857 मरीज ठीक होकर अपने अपने घर पहुंच चुके हैं।

ये भी पढ़े…

कोरोनावायरस को अब आयुर्वेद से खत्म करने की तैयारी में मोदी सरकार, पीएम ने किया टास्क फोर्स का गठन

कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने बनाया तीन चरणों वाला खास प्लान

कोरोना संकट: कोरोना वायरस रोकने में कारगर दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन जरूरतमंद देशों को निर्यात करेगा भारत

Related posts