क्या कोरोना महामारी से देश को बचा लेंगे पीएम मोदी? लॉकडाउन से पहले 76.8% लोगों को था मोदी सरकार पर भरोसा, जो अब बढ़कर 93.5% हो गया

narendra modi

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दुनिया के करीब 200 से ज्यादा देश कोरोना वायरस की चपेट में हैं। अमेरिका, इटली, ब्रिटेन जैसे देशों में कोरोना वायरस से हजारों लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन भारत में स्थिति काबू में दिख रही है। कोरोना से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बेहतर काम कर रही है। भारत में जिस तरह से कोरोना के खिलाफ कदम उठाए गए हैं, उसकी पूरे विश्व में तारीफ की जा रही है। यह दावा आईएएनएस-सी वोटर कोविड-19 ट्रैकर सर्वे की रिपोर्ट में किया गया है।

सर्वे के मुताबिक, देश के 93.5% नागरिकों का मानना है कि भारत सरकार कोरोना से अच्छे से निपट रही है। इस सर्वे के मुताबिक, लॉकडाउन से पहले 76.8% लोग मोदी सरकार पर भरोसा जता रहे थे। लेकिन लॉकडाउन के बाद 21 अप्रैल तक अब यह आंकड़ा 93.5% तक बढ़ गया है।

देशभर में यह सर्वे 16 मार्च से 21 अप्रैल के बीच हुआ। सर्वे में लोगों से पूछा गया कि- क्या आपको लगता है कि भारत सरकार कोरोनावायरस प्रकोप को अच्छी तरह से संभाल रही है? इस सवाल पर 16 मार्च को 75.8% लोगों ने सरकार पर भरोसा जताया था। फिर लॉकडाउन के पहले दिन यह आंकड़ा बढ़कर 76.8% हो गया। 31 मार्च तक 79.4% लोगों ने सरकार पर विश्वास जताया। इसके बाद यह आंकड़ा 21 अप्रैल तक बढ़कर 93.5% हो गया।

गौरतलब है कि इससे पहले अमेरिका की ग्लोबल डेटा इंटेलिजेंस कंपनी मॉर्निंग कनसल्ट पॉलिटिकल इंटेलिजेंस ने भी मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी को कोरोना से जंग में सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रप्रमुख बताया था। इसके मुताबिक, 14 अप्रैल को पीएम मोदी का 68 अप्रूवल प्वॉइंट्स हैं, जो कि साल की शुरुआत में 62 था। यानी कोरोना वायरस से बचने के लिए उठाए जा रहे कदम के बाद पीएम मोदी की लोकप्रियता में 6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को माइनस 3 अप्रूवल रेटिंग मिली है।

इसकी जानकारी गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर दी। उन्होंने लिखा, ‘सच्चाई सबके सामने है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस तरह से कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपट रहे हैं, भारतीयों की देखभाल कर रहे हैं और ऐसे चुनौतीपूर्ण वक्त में वैश्विक समुदाय को मदद कर रहे हैं, उसकी पूरी दुनिया प्रशंसा कर रही है। हर भारतीय खुद को सुरक्षित महसूस कर रहा है और उनके नेतृत्व पर भरोसा कर रहा है।’

Related posts