कई राज्यों में कम हुई रिश्वतखोरी, एक साल में भ्रष्टाचार में आई 10% कमी, 78वें स्थान पर पहुंचा भारत

corruption

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत में भ्रष्टाचार के मामलों में कमी आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2019 में देश के 20 राज्यों में भ्रष्टाचार 10 फीसदी कम हुआ है। ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक, हमारे देश में सरकारी कार्यों में रिश्वतखोरी पर कुछ हद तक लगाम लग गई है। इसी के साथ भ्रष्टाचार को लेकर 180 देशों की सूची में भारत की रैंकिंग पिछले साल के मुकाबले तीन पायदान सुधरी है।


भारत की रैंकिंग में सुधार

इस सर्वे को ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया ने किया था। यह एक गैर राजनीतिक, स्वतंत्र और गैर सरकारी भ्रष्टाचार रोधी संगठन है। जानकारी के मुताबिक, साल 2018 में भारत भ्रष्टाचार में मामले में 81वें स्थान पर था। लेकिन अब वह 78वीं रैंक पर पहुंच गया है। पिछले साल 56% नागरिकों ने कहा था कि, उन्होंने रिश्वत दी है और इस बार 51% लोगों ने माना कि उन्होंने रिश्वत दी है। सबसे ज्यादा रिश्वत राज्य सरकार के दफ्तरों में ली जाती है। इनमें प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन और जमीन से जुड़े मामलों में सबसे अधिक रिश्वत दी गई। 26% लोगों ने इस विभाग में रिश्वत दी।

38% लोगों का मानना- देश में रिश्वत के बिना काम नहीं हो सकता

बता दें इस सर्वे में 248 जिलों के 1,90,000 लोगों को शामिल किया गया था। इसमें 64% पुरुष और 36% महिलाएं थीं। 48% लोगों ने माना कि राज्य सरकार या स्थानीय स्तर पर सरकारी दफ्तरों में भ्रष्टाचार रोकने के लिए कोई प्रभावी कदम नहीं उठाए। साथ ही लोगों का मानना है कि 2017 में हुई नोटबंदी के कारण भ्रष्टाचार के मामलों में ज्यादा गिरावट आई है। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो यह मानते हैं कि देश में रिश्वत के बिना काम नहीं हो सकता। ऐसे लोगों की संख्या 36% से बढ़कर 38% हो गई। इसके अलावा जो भी लोग रिश्वत को सिर्फ एक सुविधा शुल्क समझते हैं उनकी संख्या भी बढ़ गई है। पिछले साल यह संख्या 22% थी जो अब 26% हो गई है। वहीं 19% लोगों ने पुलिस विभाग में भी रिश्वत दी।

चीन 87वें और पाकिस्तान 117वें स्थान पर

बता दें चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपने देश में हाई-प्रोफाइल भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चलाया था, बावजूद इसके चीन भ्रष्टाचार की रैंकिंग में ऊपर है। इस बारे में विशेषज्ञों का कहना है कि भारत पड़ोसी देशों से बेहतर तो जरूर हुआ है लेकिन भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। बता दें भ्रष्टाचार के मामले में चीन 87वें और पाकिस्तान 117वें स्थान पर हैं।

ये भी पढ़े… 

थाईलैंड में बोले पीएम मोदी- भारत में निवेश के लिए यह सबसे अच्छा समय, भ्रष्टाचार का खात्मा हो रहा

हिजाब का विरोध करने पर युवती को 24 साल की सजा, कोर्ट ने कहा- इससे भ्रष्टाचार और वेश्यावृति फैल रही है

सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी के खिलाफ देशभर के 110 ठिकानों पर छापेमारी

Related posts