वैक्सीन की कीमत को लेकर भारत बायोटेक ने कहा- लंबे समय तक नहीं उठा सकते 150 रुपए प्रति खुराक का खर्च

चैतन्य भारत न्यूज

भारत बायोटेक ने कोवैक्सिन के दाम को लेकर एक बड़ा बयान जारी किया है। कंपनी ने कहा कि, 150 रुपए प्रति खुराक की दर से केंद्र सरकार को कोविड-19 रोधी कोवैक्सीन टीके का खर्च वह लंबे समय तक नहीं उठा सकती है। कंपनी ने कहा कि, केंद्र के आपूर्ति शुल्क की वजह से भी निजी क्षेत्र में कीमत के ढांचे में बदलाव हो रहा है, इसमें वृद्धि हो रही है।

भारत में निजी क्षेत्र के लिए उपलब्ध अन्य कोविड रोधी टीकों की तुलना में कोवैक्सीन के लिए अधिक दर को उचित बताते हुए भारत बायोटेक ने कहा कि कम मात्रा में खरीद, वितरण में आने वाली अधिक लागत और खुदरा मुनाफे आदि इसके कई सारे बुनियादी कारोबारी कारण हैं। कंपनी ने कहा, ‘भारत सरकार को कोवैक्सीन टीके 150 रूपये प्रति खुराक की आपूर्ति कीमत गैर-प्रतिस्पर्धी कीमत है और यह स्पष्ट रूप से लंबे समय तक वहनीय नहीं है।’

भारत बायोटेक ने एक बयान में कहा कि, लागत निकालने के लिए निजी बाजार में अधिक कीमत रखना जरूरी है। उसने बताया कि भारत बायोटेक टीके के विकास, क्लिनिकल ट्रायल तथा कोवैक्सीन के लिए निर्माण इकाई स्थापित करने के लिए अब तक 500 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश कर चुकी है।

बता दें भारत बायोटेक फिलहाल केंद्र सरकार को 150 रुपए प्रति खुराक, राज्य सरकारों को 400 रुपए प्रति खुराक और निजी अस्पतालों को 1200 रुपए प्रति खुराक की दर से कोवैक्सीन की आपूर्ति कर रही है।

Related posts