कमजोर पड़ा ‘महा’ चक्रवात, अगले 24 घंटे में दिखेगा ‘बुलबुल’ तूफान का प्रचंड रूप

sea toofan

चैतन्य भारत न्यूज

गांधीनगर/कोलकाता. गुजरात के समुद्री तट पर ‘महा’ चक्रवात आने का संकट अब टल गया है। मौसम विभाग ने बताया कि, तूफान महा कमजोर पड़ने के बाद गुजरात के समुद्री तट से नहीं टकराएगा। धीरे-धीरे यह चक्रवात डीप-डिप्रेशन में तब्दील हो जाएगा। वैसे महा तूफान तो कमजोर हो गया लेकिन बंगाल की खाड़ी में बन रहा तूफान ‘बुलबुल’ के तेज होने के पूरे आसार हैं। बताया जा रहा है कि अगले 24 घंटों में बुलबुल का असर देखने को मिल सकता है।


पहली बार लगातार 3 तूफान आ रहे

जानकारी के मुताबिक, भारत दो किनारों से तूफानों से घिरा हुआ था। जिसकों ध्यान में रखते हुए तटीय इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। अब महा तूफान तो कमजोर पड़ गया है लेकिन बुलबुल भयानक चक्रवाती तूफान का रूप लेता नजर आ रहा है। बता दें 5 दिन पहले ही चक्रवाती तूफान ‘क्यार’ खत्म हुआ है। मौसम वैज्ञानिक ने कहा कि, ‘ऐसा पहली बार ही हो रहा है, जब एक के बाद एक लगातार 3 तूफान बने।’

36 घंटों में भयानक रूप ले लेगा बुलबुल

बंगाल की खाड़ी में बन रहे नए तूफान ‘बुलबुल’ के 10 नवंबर तक अत्यधिक गंभीर बनने की आशंका जताई गई है। हालांकि, यह तूफान ओडिशा या पश्चिम बंगाल में किस स्थल से टकराएगा, फिलहाल यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों का कहना है कि, बुलबुल अगले 36 घंटों में यह चक्रवाती तूफान का रूप ले लेगा। यदि यह तूफान ज्यादा भयानक रूप लेता है तो इसका सीधा असर महाराष्ट्र, गुजरात, पश्चिम बंगाल और ओडिशा पर भी पड़ेगा।

किस दिन तूफान ‘बुलबुल’ की गति क्या रहेगी

7 नवंबरः 70 से 100 किमी/घंटा
8 नवंबरः 110 से 130 किमी/घंटा
9 नवंबरः 125 से 140 किमी/घंटा
10 नवंबरः 130 से 140 किमी/घंटा

मई में फैनी तूफान ने मचाई थी तबाही

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, 129 साल में तीसरी बार ऐसा होगा, जब दशक में सबसे ज्यादा 99 तूफान आएंगे। इससे पहले साल 1970 से 1979 के दशक में 110 और 1960 से 1969 के दशक में 99 तूफान बने थे। बता दें मई में ही ओडिशा में चक्रवाती तूफान ‘फैनी’ आया था जिसने भारी तबाही मचाई थी। इस चक्रवात में करीब 64 लोगों की मौत हो गई थी।

ये भी पढ़े…

बांग्लादेश ने रखा चक्रवाती तूफान का नाम फैनी, आप भी जानिए कैसे तय होते हैं तूफानों के नाम

चक्रवाती तूफान महा और बुलबुल ने देश को दो तरफ से घेरा, चिंता में लोग

जापान में सबसे ताकतवर तूफान हगिबीस ने मचाई तबाही, गुलाबी हुआ आसमान, अब तक 8 की मौत, 110 से ज्यादा जख्मी

फिर लौट रहा है चक्रवाती तूफान वायु, अगले 36 घंटों में कच्छ के तटों पर दे सकता है दस्तक

Related posts