कोरोना महामारी के बीच आ रहा एक और चक्रवाती तूफान, इन राज्यों में मचा सकता है तबाही

vayu toofan,cyclone,gujarat,maharashtra,Arabian sea,

चैतन्य भारत न्यूज

इस साल जहां सभी कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे हैं तो वहीं चक्रवाती तूफानों का सिलसिला भी लगातार जारी है। कुछ दिन पहले चक्रवाती तूफान निवार ने दक्षिणी राज्यों में कहर बरपाया था। इसे गुजरे हुए अभी एक सप्ताह भी नहीं हुआ कि मौसम विभाग ने एक और चक्रवाती तूफान की चेतावनी जारी कर दी है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने बताया कि, बंगाल की खाड़ी में उच्च दबाव के मंगलवार देर रात चक्रवाती तूफान के रूप में बदलने की संभावना है। इसके चक्रवाती तूफान के रूप में दो दिसंबर की शाम या रात को त्रिंकोमाली के निकट श्रीलंका तट से गुजरने का पूर्वानुमान है और इस दौरान 75 से 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी।

चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा कि इसके बाद इसके पश्चिम की ओर बढ़ने और तीन दिसंबर की सुबह मन्नार की खाड़ी और निकटवर्ती कोमोरिन इलाके में पहुंचने की संभावना है। इसके बाद यह संभवत: पश्चिम-दक्षिणपश्चिम की ओर बढ़ेगा और चार दिसंबर की सुबह कन्याकुमारी और पम्बन के बीच दक्षिण तमिलनाडु के तट से गुजरेगा। मौसम विभाग ने मछुआरों को चेतावनी देते हुए कहा है कि, तीन दिसंबर तक दक्षिण-पश्चिम और श्रीलंका के पूर्वी तट के पास न जाएं। इसके अलावा मौसम विभाग ने दो से चार दिसंबर तक कोमोरिन क्षेत्र, मन्नार की खाड़ी, दक्षिण तमिलनाडु, केरल और श्रीलंका के पश्चिमी तट पर भी खतरे की चेतावनी दी है।

इन राज्यों में भी चक्रवाती तूफान आने की संभावना

मौसम विभाग ने कहा कि कहा कि  केरल, पुडुचेरी और दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में भी चक्रवात पनप रहा है। इसके चलते इन क्षेत्रों में भारी बारिश होने की संभावना है। इतना ही नहीं, मंगलवार रात तक 80 किमी प्रति घंटे की हवा की गति के साथ चक्रवात के तेज होने की संभावना है। अगले 24 घंटे में चक्रवात तीव्र होकर तूफान में तब्दील हो जाएगा। मौसम विभाग के अधिकारियों ने इस चक्रवाती तूफान का नाम बुरेवी बताया है।

Related posts