चक्रवात निसर्ग का खतरा, मुंबई-गुजरात के तटीय इलाकों में रेड अलर्ट जारी, पणजी में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश

चैतन्य भारत न्यूज

बंगाल की खाड़ी में अम्फान तूफान के बाद अब चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ गुजरात के तट पर 3 जून को दस्तक दे सकता है। इसके खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, दमन-दीव और दादरा नगर हवेली में अलर्ट जारी किया गया है। राज्य सरकारों ने तूफान से होने वाली तबाही की आशंका को देखते हुए निचले स्थानों पर रहने वाले लोगों को निकालने का आदेश दिया है।

NDRF की 23 टीमें तैनात

निसर्ग के खतरे से निपटने के लिए आधा दर्जन से अधिक जिलों में नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (NDRF) की कुल 23 टीमों को तैनात किया गया है। गोवा में निसर्ग तूफान का असर दिखना शुरू हो गया है। राजधानी पणजी में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग का अनुमान है कि चक्रवात के असर से तटीय इलाकों में तेज हवा के साथ भारी बारिश जारी रहेगी।

जल्द मुंबई से टकराएगा तूफान

जानकारी के मुताबिक, चक्रवात मुंबई और पालघर के नजदीक पहुंच गया है। यह मुंबई में समुद्र के तट से जल्द ही टकराने वाला है। मुंबई के लिए यह पहला गंभीर चक्रवात होगा। दरअसल, अरब सागर पर बना कम दबाव का क्षेत्र मुंबई की ओर बढ़ रहा रहा है, इसकी गति 11 किलोमीटर प्रति घंटा है। लेकिन इसके तूफान में बदलते ही हवा की गति 125 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। अभी यह मुंबई से 450 किमी दूर है।

125 की रफ्तार पकड़ सकता है निसर्ग

इस दवाब के भयंकर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने पर हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा हो सकती है। वहीं, कल यानी 3 जून को हवा की रफ्तार 125 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक, ‘इससे दक्षिणी गुजरात क्षेत्र में 3 और 4 जून को भारी बारिश होगी।’

3 जून तक गुजरात-महाराष्ट्र के तट से टकराने की संभावना

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, अरब सागर पर बना कम दबाव का क्षेत्र अगले 24 घंटों में चक्रवात का रूप ले सकता है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि 3 जून की शाम को चक्रवाती तूफान उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात को पार कर जाएगा जिससे भारी बारिश होने का अनुमान है। कम दबाव का क्षेत्र वर्तमान में गोवा से 300 किलोमीटर दूर है। दोनों ही राज्यों में मछुआरों को समंदर किनारे ना जाने की सलाह दी गई है।

Related posts