डाटा प्राइवेसी दिवस: इन आसान तरीकों से आप घर बैठे रख सकते हैं अपने डाटा को सुरक्षित

data protection

चैतन्य भारत न्यूज

हर साल 28 जनवरी को ‘डाटा प्राइवेसी दिवस’ (Data Protection Day/Data Privacy Day) मनाया जाता है। आज के समय में ज्यादातर लोगों ने डिजिटल दुनिया में प्रवेश कर लिया है। इससे निजी जिंदगी का काम तो आसान हो ही गया है लेकिन प्राइवेसी का खतरा बढ़ गया है। इसी को ध्यान में रखकर डाटा प्राइवेसी दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगों को डाटा सुरक्षित रखने के प्रति जागरूक किया जाता है। डाटा प्राइवेसी दिवस के मौके पर जानते हैं कि किस तरह जरुरी बातों का ध्यान रखते हुए मोबाइल को सुरक्षित रखा जा सकता है।


डाटा प्राइवेसी दिवस का इतिहास

डाटा प्राइवेसी दिवस हर साल 28 जनवरी को मनाने की घोषणा यूरोप की परिषद ने की थी। इस दिन जानकारी की गोपनीयता और डाटा की सुरक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने का एक अंतररार्ष्ट्रीय प्रयास किया जाता है। इस दिन सरकारें और राष्ट्रीय डाटा संरक्षण संस्थाए व्यक्तिगत डाटा संरक्षण और गोपनीयता के अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कई सारी गतिविधियां भी करती हैं। हम आपको आज व्यक्तिगत जानकारी को सुरक्षित रखने के कुछ उपाय बता रहे हैं-

  • सबसे पहले आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप अपने कंप्यूटर, लैपटॉप, टैबलेट और स्मार्टफोन में लेटेस्ट यानी नए सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें।
  • अपने सभी इस्तेमाल किए जाने वाले एप्लिकेशन को नियमित रूप से सुरक्षा सुधारों के लिए अपडेट करते रहे।
  • सुरक्षा के लिए एंटी-मैलवेयर सॉफ्टवेयर का उपयोग करें और एन्क्रिप्शन के साथ व्यक्तिगत डाटा की सुरक्षा करें।
  • हमेशा लंबे पासवर्ड रखने की कोशिश करें।
  • फोन में टेक्स्ट मैसेज या किसी भी ईमेल का रिप्लाय करने से पहले उसका सोर्स जरूर देख लें। इसमें वायरस होने की आशंका होती है।
  • कभी भी असुरक्षित वाईफाई का इस्तेमाल न करें।
  • किसी भी नए डिवाइस (मोबाइल, लैपटॉप, इत्यादि) में तुरंत ही अपनी प्राइवेसी सेटिंग दर्ज करें।
  • अपने एटीएम, क्रेडिट कार्ड, बैंक स्टेटमेंट की नियमित रूप से जांच करते रहे। कुछ भी संदिग्ध लगने पर अपने बैंक को तुरंत संपर्क करें।
  • व्हाट्सएप या फेसबुक पर आने वाली लिंक, फाइल, म्यूजिक और वीडियो को बिना जानकारी के खोले न।
  • कोई नई ऐप का इस्तेमाल बेहद जरुरी होने पर ही उसकी रेटिंग के अनुसार करें।
  • कार्ड का कोड, मोबाइल का पासवर्ड समेत अन्य कई पासवर्ड मोबाइल में सेव करके न रखें।
  • हर थोड़े दिन में फोन का पासवर्ड बदलते रहे।

ये भी पढ़े…

फेसबुक के 26.7 करोड़ से ज्यादा यूजर्स का डाटा लीक, एक्सैस के लिए किसी पासवर्ड की भी जरूरत नहीं

निजी डाटा चोरी करने वालों की अब खैर नहीं, होगी जेल और 15 करोड़ तक जुर्माना, जानें डाटा चोरी से बचने के उपाय

NCRB के चौंकाने वाले आंकड़े, देश में हर 2 घंटे में 3 बेरोजगार कर रहे खुदकुशी

Related posts