शहीद की बेटी बोलीः करना पड़े सर्जिकल स्ट्राइक, साजिश रचने वालों को मिले सजा

चैतन्य भारत न्यूज।

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में गुरूवार को आतंकी हमले में 40 जवानों की शहादत में पूरा देश आज गम और आक्रोश में डूबा है। सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल मानेश्वर बासुमतारी की बेटी ने मांग की है ,कि ‘‘मेरे पिता, जवानों की हत्या करने के लिए साजिश रचने वालों को सजा जरूर मिलनी चाहिए, भले ही इसके लिए सीमापार सर्जिकल स्ट्राइक करना हो। ’

पुलवामा में आतंकवादी हमले में शहीदों में सीआरपीएफ की 98वीं बटालियन के हेड कांस्टेबल बासुमतारी भी शामिल थे। उनके परिवार में बेटी दीदमास्वरी, पत्नी सन्माटी और बेटा है।

चाहते हैं न्याय

सन्माटी ने सिसकते हुए कहा कि बासुमतारी हाल ही में गांव आए थे। वह इससे आगे कुछ नहीं बोल पाईं। शोकाकुल दीदमास्वरी ने कहा, ‘‘हम न्याय चाहते हैं। पुलवामा हमले के लिए जिम्मेदार कायरों को करारा जवाब दिया जाए। ’’

आतंकी हमले पर सीआरपीएफ का ट्वीट ‘’न भूलेंगे न माफ करेंगे’’

पालम एयरपोर्ट पर पीएम ने दी श्रद्धांजलि

शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को शुक्रवार देर शाम को दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर लाए जहां प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी ने शहीदों को श्रद्धांंजलि दी।इसके अलावा, शहीद जवानों को गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी श्रद्धांजलि दी।

Related posts