26 जनवरी को लाल किले पर हिंसा का आरोपी दीप सिद्धू गिरफ्तार, पुलिस ने रखा था 1 लाख रुपए का इनाम

चैतन्य भारत न्यूज

26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के मुख्य आरोपियों में से एक दीप सिद्धू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बता दें दीप सिद्धू पिछले 15 दिनों से फरार था। इसके बाद वह मंगलवार तड़के दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे चढ़ा। पुलिस ने उस पर एक लाख रुपए का इनाम रखा है।

दीप सिद्धू से स्पेशल सेल के दफ्तर में क्राइम ब्रांच और स्पेशल सेल दोनों के ही द्वारा पूछताछ की जा रही हैं। भले ही दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया हो लेकिन अब उसे क्राइम ब्रांच को सौंपा जाएगा क्योंकि पूरे मामले की जांच इसी एजेंसी द्वारा की जा रही है।

पुलिस के अधिकारी संजीव यादव ने बताया कि कल रात करीब 10:30 बजे दीप सिद्धू को करनाल से गिरफ्तार किया गया। वह पुलिस के रडार पर कई दिन से था। कल जब वह अकेले एक रास्ते पर खड़ा था और कहीं जाने के लिए कार का इंतजार कर रहा था तभी पुलिस की स्पेशल सेल ने उसे दबोच लिया।

फरार दीप सिद्धू के वीडियो सोशल मीडिया पर आते रहते थे। पुलिस के मुताबिक, दीप सिद्धू वीडियो बनाता जरूर था, लेकिन उसे अपलोड उसकी बेहद करीबी महिला मित्र करती थी। ये महिला मित्र भारत से बाहर विदेश में बैठकर सिद्धू के वीडियो अपलोड करती थी। इसके पीछे सिद्धू की चाल जांच एजेंसियों को भटकाने की थी। यानी दीप सिद्धू एक पेशेवर अपराधी की तरह पुलिस के साथ लुकाछिपी का खेल खेल रहा था।

क्या है आरोप?

26 जनवरी को उपद्रवियों की भीड़ ने लाल किले पर पहुंचकर उत्पात मचाया था और अपना झंडा फहरा दिया था। प्राचीर पर निशान साहिब फहराए जाने की घटना की पूरे देश में आलोचना हुई थी। किसान संगठनों ने खुद को इस घटना से अलग करते हुए दीप सिद्धू को जिम्मेदार ठहराया था। साथ ही यह भी आरोप लगाया था कि सिद्धू बीजेपी का आदमी है।

Related posts