रिपोर्ट: दिल्ली सरकार ने जरूरत से चार गुना ज्यादा ऑक्सीजन ली, केजरीवाल बोले- मेरा गुनाह है कि, मैं रात भर जाग कर ऑक्सीजन का इंतजाम कर रहा था

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आए ऑक्सीजन संकट पर राजनीति अब भी थमने का नाम नहीं ले रही है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के पैनल की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दूसरी लहर के दौरान दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन की ज़रूरत को चार गुना ज्यादा बढ़ाकर बताया था। इसे दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गलत बताया था। वहीं इस पूरे मामले में विपक्ष का हमला झेल रहे केजरीवाल ने इस पर अब ट्वीट कर सफाई दी है।

सीएम केजरीवाल का ट्वीट

उन्होंने ट्वीट किया, ‘मेरा गुनाह- मैं अपने दो करोड़ लोगों की सांसों के लिए लड़ा। जब आप चुनावी रैली कर रहे थे, मैं रात भर जाग कर ऑक्सीजन का इंतजाम कर रहा था। लोगों को ऑक्सीजन दिलाने के लिए मैं लड़ा, गिड़गिड़ाया लोगों ने ऑक्सीजन की कमी से अपनों को खोया है। उन्हें झूठा मत कहिए, उन्हें बहुत बुरा लग रहा है।’

उप मुख्यमंत्री की सफाई

वहीं दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि ऐसी कोई रिपोर्ट है ही नहीं । उन्होंने कहा कि कथित रिपोर्ट बीजेपी मुख्यालय में तैयार की गई है। सिसोदिया ने कहा, ‘हमने सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित ‘ऑक्सीजन ऑडिट कमेटी’ के सदस्यों से बात की है। उन्होंने कहा कि ऐसी किसी रिपोर्ट पर उन्होंने हस्ताक्षर नहीं किए हैं। बीजेपी झूठी रिपोर्ट पेश कर रही है, जो उसकी पार्टी मुख्यालय में तैयार की गई है। मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि ऐसी रिपोर्ट पेश करें, जिस पर ‘ऑक्सीजन ऑडिट कमेटी’ के सदस्यों ने हस्ताक्षर किए हों।’

बीजेपी का दावा

दरअसल, बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि दूसरी लहर के दौरान जब संक्रमण के मामले चरम पर थे तब दिल्ली सरकार ने 1,140 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग की थी जबकि वह 209 मीट्रिक टन का भी इस्तेमाल नहीं कर पायी थी। इसके बाद से ही इस मामले को लेकर राजनीति शुरू हो गई।

 

Related posts