निर्भया केस : दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की नाबालिग बताने वाली याचिका, वकील पर भी लगाया जुर्माना

nirbhaya,nirbhaya case, nirbhaya gang rape

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के चार दोषियों में शामिल पवन कुमार की याचिका गुरुवार को खारिज कर दी। इसके साथ ही न्यायाधीश सुरेश कुमार ने पवन के वकील एपी सिंह पर कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए 25000 का जुर्माना भी लगाया है।



मामले में फांसी की सजा पाए दोषी ने बुधवार को याचिका दाखिल की थी। इसमें उसने वारदात के वक्त खुद को नाबालिग बताया था। वहीं निर्भया की मां आशा देवी ने दोषी पवन की याचिका खारिज होने के बाद कहा है कि, ‘मैं इस फैसले का स्वागत करती हूं। ऐसे लोगों को सबक सिखाने की बहुत जरूरत है। मैं बहुत खुश हूं।’

बता दें दोषी पवन की याचिका को गुरुवार को सुनवाई के लिए न्यायाधीश सुरेश कुमार कैत के समक्ष सूचीबद्ध किया गया था। गुरुवार को अदालत ने इस मुद्दे पर सुनवाई 24 जनवरी तक टालने का आदेश दिया था, लेकिन निर्भया के घरवालों के विरोध के बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने मामले पर सुनवाई गुरुवार को ही करने का फैसला लिया।

गौरतलब है कि, 16 दिसंबर, 2012 की रात दिल्ली में पैरामेडिकल छात्रा (निर्भया) से 6 लोगों ने चलती बस में दरिंदगी की थी। कई गंभीर जख्मों के कारण 29 दिसंबर को सिंगापुर में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में पवन, अक्षय, विनय और मुकेश को फांसी हो सकती है।

ये भी पढ़े…

निर्भया केस : पटिलाया हाउस कोर्ट ने दोषियों के डेथ वॉरंट पर फैसला 7 जनवरी तक के लिए टाला

निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका, फांसी की सजा बरकरार रखी

निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट में दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई पूरी

Related posts