पहलवान सुशील कुमार मर्डर केस में गिरफ्तार, पढ़े सागर हत्याकांड की पूरी कहानी

चैतन्य भारत न्यूज

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के बाद से फरार चल रहे ओलंपियन मैडल विजेता और पहलवान सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने रविवार को मुंडका इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। सुशील कुमार और उनके साथी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है।

इतना इनाम था घोषित

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से फरार चल रहे सुशील पर एक लाख और साथी अजय पर 50 हजार रूपए का इनाम घोषित था। सरकारी स्कूल में पीटीआई के पद पर काम करने वाला अजय, कांग्रेस के नगर निगम पार्षद सुरेश बक्करवाला का बेटा है।

फ्लैट का किराया ना देने पर हुआ विवाद

यह पूरा मामला दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके में एक फ्लैट को खाली करने को लेकर शुरू हुआ था। दरअसल, सागर जिस फ्लैट में किराये पर रहता था, वो फ्लैट सुशील कुमार की पत्नी का था। लेकिन सागर ने दो महीनों का किराया दिए बगैर ही उस फ्लैट को छोड़ दिया। सूत्रों की मानें तो इसके बाद सुशील ने कई बार सागर से अपने बकाया किराए की मांग की लेकिन सागर रुपये देने में टाल-मोटल करता रहा।

सागर और उसके साथियों को किया किडनैप

फिर 4 मई को सुशील कुमार अपने कुछ साथियों के साथ मॉडल टाउन के एम ब्लॉक इलाक़े में मौजूद एक फ्लैट में पहुंचे और उनके साथियों ने फ्लैट में रहनेवाले सागर धनखड़ नाम के एक लड़के को उसके तीन साथियों समेत किडनैप कर लिया। सागर खुद भी सुशील कुमार का बड़ा फैन और कुश्ती का नेशनल जूनियर चैंपियन भी था।

छत्रसाल स्टेडियम में की खूब मारपीट

फिर सुशील और उनके साथी सागर को अगवा कर अपने साथ दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके में मौजूद छत्रसाल स्टेडियम में लेकर गए। सुशील कुमार सागर धनखड़ से किसी बात पर कुछ ज़्यादा ही नाराज थे और इसी गुस्से में उन्होंने सागर और उसके साथियों को अगवा कर कुछ इतनी बुरी तरह से पीटा कि सागर समेत उसके दो दोस्तों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। सागर के बाकी दोस्तों की तो जैसे-तैसे जान बच गई, लेकिन बदकिस्मती से इस पिटाई में सागर धनखड़ को कुछ इतनी चोटें आईं थी कि उसकी जान ही चली गई। सागर की हालत कुछ इतनी नाज़ुक थी कि मारपीट की इस भयानक वारदात के बाद मौके पर पहुंची पुलिस सागर धनखड़ का बयान तक नहीं ले सकी और इससे पहले ही उसकी मौत हो गई।

 

Related posts