दिल्ली हिंसाः कोर्ट में सरेंडर करने पहुंचा तीन मामलों में आरोपी ताहिर हुसैन, पुलिस ने पार्किंग में किया गिरफ्तार

tahir hussain

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. दिल्ली में हुई हिंसा से जुड़े तीन मामलों में आरोपी आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक, ताहिर ने आज दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट में सरेंडर की याचिका दायर की थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया।



सरेंडर अर्जी पर सुनवाई के दौरान ताहिर हुसैन के वकील ने कहा कि, ‘कोर्ट या तो कोई ऑर्डर कर दे या फिर किसी दूसरी कोर्ट में अर्जी को ट्रांसफर कर दे।’ इसके बाद जज ने कहा कि, सरेंडर पर सुनवाई का अधिकार हमारा नहीं है। फिर ताहिर जैसे ही कोर्ट की पार्किंग में गया, उसे क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद उसे क्राइम ब्रांच के दफ्तर ले जाया गया।


बता दें ताहिर पर पहला आरोप दिल्ली हिंसा के दौरान इंटेलिजेंस ब्यूउरो (IB) के अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या का है। सूत्रों के मुताबिक, ताहिर हुसैन के मकान में अंकित शर्मा की हत्या की गई थी। उस पर चाकुओं से अनगिनत वार किए गए थे। हालांकि, अब तक यह साफ नहीं है कि उस समय ताहिर मौके पर था या नहीं। इसके अलावा ताहिर पर आगजनी और हिंसा फैलाने का भी आरोप है। बता दें दिल्ली हिंसा के दौरान ताहिर के मकान की छत पर पत्थर, गुलेल और पेट्रोल बम मिले थे। उस पर आरोप है कि दिल्ली में हो रही हिंसा के दौरान उसके घर से भी पत्थरबाजी की गई थी। दिल्ली हिंसा के बाद से ही दिल्ली पुलिस की टीम उसकी तलाश कर रही थी, लेकिन वह फरार था।


गिरफ्तार होने से पहले ताहिर ने खुद पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि, ‘मुझे फंसाया जा रहा है। उपद्रवियों ने मेरे मकान का गलत इस्तेमाल किया है। मैं डरा हुआ था, इसलिए मैंने सरेंडर नहीं किया। मैं निष्पक्ष और ईमानदार जांच के लिए तैयार हूं। मैं नारको टेस्ट के लिए तैयार हूं।’

tahir hussain

बता दें ताहिर मुस्तफाबाद विधानसभा में नेहरू विहार वार्ड से आम आदमी पार्टी का था। ताहिर के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने के बाद आम आदमी पार्टी ने सख्त एक्शन लेते हुए उसे पार्टी से सस्पेंड कर दिया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने ताहिर को लेकर कहा था कि, ‘जो भी व्यक्ति दोषी पाया जाता है उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। अगर आम आदमी पार्टी का कोई व्यक्ति दोषी पाया जाता है तो उस व्यक्ति को दोगुनी सजा दी जानी चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।’

ये भी पढ़े…

दिल्ली हिंसा: AAP के पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ तीन केस दर्ज, पार्टी ने किया सस्पेंड, घर को किया गया सील

दिल्ली हिंसा में ये सिख पिता-पुत्र बने अमन के दूत, खुद की जान पर खेलकर 70 मुस्लिमों को बचाया

दिल्ली हिंसा: जब चांदबाग इलाके में हिंसा के दौरान मंदिर की सुरक्षा के लिए ढाल बने मुस्लिम

Related posts