उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में अब तक पुलिसकर्मी समेत 7 की मौत, इलाके में धारा 144 लागू

delhi voilence

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. नागरिकता कानून संशोधन (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में दिल्ली के उत्तर पूर्वी इलाके में जारी हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर सात हो गई है। मृतकों में हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं। हिंसा में 100 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। हिंसा बढ़ती देख दिल्ली पुलिस ने उत्तर-पूर्वी जिले में महीनेभर के लिए धारा 144 लगाने का आदेश जारी किया है।


CAA-NRC के विरोध में दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन, हेड कॉन्स्टेबल की मौत, कई पुलिसकर्मी घायल, पेट्रोल पंप जलाया

5 मोटरसाइकिल को आग के हवाले किया

बता दें सोमवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जमकर हिंसा हुई थी। मंगलवार को भी मौजपुर और ब्रहमपुरी इलाके में पत्थरबाजी हुई। आज सुबह प्रदर्शनकारियों ने पांच मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया। मौके पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात है। देर रात से सुबह तक मौजपुर और उसके आस-पास इलाकों में आगजनी के 45 कॉल आए, जिसमें दमकल की एक गाड़ी पर पथराव किया गया, जबकि एक दमकल की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया। इस दौरान तीन दमकलकर्मी घायल हुए है।

7 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई

दिल्ली पुलिस ने धारा 144 लागू करने का आदेश तब जारी किया है, जब हिंसा में मरने वालों की तादाद सात तक पहुंच गई। इसके अलावा सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान भी पहुंचाया गया है। ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार ने कहा कि, ‘दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में स्थिति सोमवार से अस्थिर बनी हुई है। हम लोगों ने कानूनी कार्रवाई की है। हमने प्रभावित इलाको में कई स्थानों पर फोर्स तैनात की है। हम स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहे हैं।’ आलोक कुमार ने हिंसा में अब तक 7 लोगों के मारे जाने की भी पुष्टि की है।

नागरिकता कानून पर रोक लगाने से SC का इनकार, चार हफ्ते में केंद्र से मांगा जवाब

अर्धसैनिक बलों की 8 कंपनियां तैनात

स्थिति गंभीर होते देख उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित 10 इलाकों में पुलिस फ्लैग मार्च कर रही है। साथ ही इलाके में सीआरपीएफ की 8 कंपनियां भी तैनात की गई हैं जिनमें रैपिड एक्शन फोर्स की दो कंपनियां और महिला सुरक्षाकर्मियों की एक कंपनी शामिल है। गृह मंत्रालय भी लगातार दिल्ली पुलिस के संपर्क में है और हालात की जानकारी ले रहा है।

ये भी पढ़े…

CAA के तहत भगवान बालाजी भी मिले नागरिकता, चिल्कुर मंदिर के पुजारी ने रखी मांग

नागरिकता कानून के समर्थन में पीएम मोदी ने शुरू किया #IndiaSupportsCAA अभियान, ट्वीट कर छेड़ी मुहिम

नागरिकता कानून पर बवाल, विरोध में सत्याग्रह पर बैठी कांग्रेस, सोनिया-राहुल-मनमोहन ने पढ़ा संविधान का प्रस्तावना

Related posts