तीन दिन तक उपद्रवियों के तांडव के बाद दिल्ली में थमी हिंसा, अब तक 34 की मौत, 106 लोग गिरफ्तार

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में रविवार से लगातार हिंसा हो रही थी जो अब थम गई है। हिंसा के कारण दिल्ली में मौतों का आंकड़ा और बढ़ गया है। अब तक 34 लोग अपनी जान गवां चुके हैं और 56 पुलिसकर्मियों समेत करीब 250 लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों में से 30 की हालत नाजुक है।



दिल्ली में हुई हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस के रवैये पर बेहद सख्त टिप्पणियां की। हिंसा के 3 दिन बाद प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से शांति-भाईचारे की अपील की। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, ‘हिंसा प्रभावित इलाकों में सेना तैनात की जाए।’ स्थिति नियंत्रित करने का काम राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को दिया गया है। अजीत डोभाल ने भी दंगा प्रभावित इलाकों का जायजा लिया। आज डोभाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कैबिनेट को रिपोर्ट करेंगे।

जानकारी के मुताबिक, हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने अब तक 18 एफआईआर दर्ज की गई हैं और 106 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मणदीप सिंह रंधावा ने संवाददाताओं से कहा, ‘बुधवार को कोई अप्रिय घटना सामने नहीं आई और उत्तर पूर्व दिल्ली से पीसीआर कॉल घट गई है। हिंसा के तीसरे दिन मृतक संख्या बढ़कर 34 हो गई है।

delhi voilence

बता दें हिंसा के तीन दिन बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय सक्रिय हुआ और दिल्ली की सड़कों पर अर्धसैनिक बलों की तैनाती को बढ़ा दिया गया है। दिल्ली में अब 45 अर्धसैनिक बलों की कंपनियां तैनात की गई हैं। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के चांदबाग, गोकुलपुरी, मौजपुर, जाफराबाद इलाके में अभी भी भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं। हिंसा के माहौल को देखते हुए दिल्ली सरकार ने अभी स्कूलों को बंद रखने का फैसला लिया है। साथ ही उत्तर पूर्व इलाके के सभी स्कूल भी बंद रहेंगे, वहीं CBSE की गुरुवार को होने वाली परीक्षा भी रद्द कर दी गई है।

ये भी पढ़े…

दिल्ली हिंसा पर पीएम मोदी का ट्वीट, लोगों से की शांति की अपील, कहा- भाईचारा बनाए रखें

सोनिया गांधी बोलीं- दिल्ली में खराब हालात के लिए अमित शाह जिम्मेदार, दें इस्तीफा

दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या हुई 9, पत्रकार को भी लगी गोली, धारा 144 लागू

Related posts