मुख्यमंत्री पद से हटते ही मुसीबत में फंसे देवेंद्र फडणवीस, आपराधिक मामले छिपाने को लेकर कोर्ट ने जारी किया समन

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मुसीबत में फंसते हुए नजर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री पद से हटते ही फडणवीस को नागपुर कोर्ट ने समन जारी किया है। सूत्रों के मुताबिक, फडणवीस पर चुनावी हलफनामे में जानकारी छिपाने का आरोप है। बता दें फडणवीस नागपुर से विधायक हैं।



वकील सतीश उके का आरोप है कि, फडणवीस ने अपने चुनावी हलफनामे में दो आपराधिक मुकदमों की जानकारी को छिपाया है। इस बात की पुष्टि नागपुर (सदर) के पुलिस निरीक्षक महेश बंसोड़े ने की। उन्होंने बताया कि कोर्ट का समन देवेंद्र फडणवीस को दिया जा चुका है। बता दें यह घटनाक्रम ऐसे समय हुआ है, जब महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन ने सरकार बनाई है।

क्या है मामला

जानकारी के मुताबिक, फडणवीस पर आरोप लगाया गया था कि साल 2014 के विधानसभा चुनाव के समय फडणवीस द्वारा दिए गए हलफनामे में खुद पर चल रहे दो आपराधिक मामलों की जानकारी नहीं दी है। याचिकाकर्ता की दलील थी कि, फडणवीस ने अपराध छुपाकर जनप्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा 125A का उल्लंघन किया है। उनका कहना है कि, प्रत्याशी के लिए सभी आपराधिक मामलों की जानकारी देना कानूनी रूप से अनिवार्य है। इस मामले में लोअर कोर्ट और हाईकोर्ट ने कहा था कि, पहली नजर में फडणवीस के खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है।

फडणवीस सरकार ने दी थी सफाई

इस मामले को लेकर फडणवीस सरकार ने सफाई देते हुए कहा कि, ‘पहला मामला मानहानि का है, जिसमें होईकोर्ट ने सीएम देवेंद्र फडणवीस को राहत दी थी। जबकि दूसरा मामला स्लम प्रॉपर्टी पर टैक्स को लेकर है। ये दोनों ही मामले जनहित में थे इनमें कोई पर्सनल हित में नहीं था।’ इसके बाद याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट की ओर रुख किया। जिसके बाद 1 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश को निरस्त (रद्द) कर दिया और फडणवीस के खिलाफ मामले में सुनवाई का आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद नागपुर की मजिस्ट्रेट कोर्ट ने फडणवीस के खिलाफ समन जारी किया है।

सीएम बनने के 78 घंटों बाद फडणवीस ने दिया इस्तीफा

बता दें फडणवीस को समन उसी दिन जारी किया गया था, जिस दिन प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के महज 78 घंटों बाद ही फडणवीस को इस्तीफा देना पड़ा और फिर शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस ने गठबंधन कर सरकार बना ली। गुरुवार को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

ये भी पढ़े…

उद्धव ठाकरे के हाथ आई महाराष्ट्र की कमान, ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

महज 80 घंटे ही मुख्यमंत्री रहे फडणवीस, इन मुख्यमंत्रियों का कार्यकाल भी रहा सबसे कम

महाराष्ट्र : फ्लोर टेस्ट से पहले सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा

Related posts